Lalu phone case : आज झारखंड हाईकोर्ट में लालू यादव के खिलाफ जेल मैनुअल उल्लंघन केस में होगी सुनवाई…

Lalu phone case : आज झारखंड हाईकोर्ट में लालू यादव के खिलाफ जेल मैनुअल उल्लंघन केस में होगी सुनवाई…

NEWSTODAYJ : रांची। जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की झारखंड हाई कोर्ट में आज यानी शुक्रवार को सुनवाई होगी। बता दें कि कोर्ट ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुई सुनवाई शुरू की है। इस मामले में 26 फरवरी को भी सुनवाई टल गई थी। आज सुनवाई के दौरान जेल में आरजेडी सुप्रीमो से किन-किन लोगों ने मुलाकात की, जेल मैनुअल का उल्लंघन हुआ या नहीं समेत अन्य बिन्दुओं पर झारखंड हाईकोर्ट में बहस की जाएगी।

यह भी पढ़े…Coronavirus : भारत में कोरोना के 16,838 मामले नए केस सामने आई, 113 लोगों की कोरोना से गई जान…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

यह सुनवाई जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में होगी। पिछली सुनवाई के दौरान लालू को बेहतर इलाज के लिए रिम्‍स, रांची से दिल्‍ली एम्स भेजने के लिए बनी मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट अदालत के रिकॉर्ड पर नहीं होने के वजह से सुनवाई टल गई थी। इस मामले में रिम्स निदेशक की ओर से मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट दाखिल कर दी गई थी। बता दें कि लालू यादव चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे हैं। रिम्स में भर्ती रहने के दौरान सजायाफ्ता लालू यादव पर जेल मैनुअल उल्लंघन का आरोप है। चारा घोटाला मामले में सुनवाई के दौरान सीबीआई द्वारा जेल मैनुअल के उल्लंघन का मुद्दा उठाया गया था।दरअसल, लालू प्रसाद यादव पर जेल में रहते हुए भी जेल मैनुअल उल्लंघन का आरोप लगाया जा रहा था।

यह भी पढ़े…Bengal Election : बंगाल विधानसभा चुनाव में शिवसेना नहीं उतारेगी अपने प्रत्याशी, देगी ममता को समर्थन…

जमानत याचिका की सुनवाई के दौरान सीबीआई ने इस मामले को कोर्ट में उठाया था। जिसके बाद कोर्ट ने इन आरोपों पर राज्य सरकार से जवाब मांगा था। इस मामले में राज्य सरकार की तरफ से आधा-अधूरा जवाब दिया गया था। जिस पर अदालत ने नाराजगी व्यक्त करते हुए फिर से विस्तृत और बिन्दुवार जवाब पेश करने को कहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here