Jharkhand News : V B University में एमएड कोर्स सहित तीन की मान्यता पर लगी रोक…

0
न्यूज़ सुने

Jharkhand News : V B University में एमएड कोर्स सहित तीन की मान्यता पर लगी रोक…

NEWSTODAYJ हजारीबाग : नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (एनसीटीइ) ने विनोबा भावे विवि, हजारीबाग में चल रहे एमएड कोर्स के साथ-साथ दो कॉलेजों में बीएड कोर्स की मान्यता सत्र 2021-22 के लिए रोक दी है, जबकि सात बीएड कॉलेजों को कारण बताअो नोटिस जारी किया है।वहीं तीन बीएड कॉलेजों की मान्यता पुन: बहाल कर दी है।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : अवैध संबंध के आरोप में प्रेमी जोड़े को बनाया बंधक…

उक्त निर्णय एनसीटीइ इआरसी के चेयरमैन प्रो केबी दास की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया।रीजनल डायरेक्टर डॉ विजय कुमार आर ने इस बाबत संबंधित विवि को भी जानकारी उपलब्ध करा दी हैविनोबा भावे विवि, हजारीबाग में एमएड कोर्स के लिए शिक्षक नियुक्ति में एनसीटीइ के 2014 रेगुलेशन का मापदंड पूरा नहीं करने व फायर सर्टिफिकेट जमा नहीं करने के कारण मान्यता रोकी गयी है।इसके अलावा हजारीबाग में ही गवर्नमेंट टीचर्स कॉलेज द्वारा पांच मार्च 2020 में जारी किये गये नोटिस का जवाब नहीं देने के कारण सत्र 2021-22 के लिए मान्यता रोक दी गयी है।

यह भी पढ़े…By Election 2020 : झारखंड सहित 11 राज्यों की 54 सीटों पर 3 नवंबर को वोटिंग, आज से थम जायेगा प्रचार प्रसार…

रामकृष्ण शारदा आश्रम टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज हजारीबाग में भवन प्लान व भवन पूर्ण किये जाने के कागजात में अंतर, फिक्स डिपॉजिट, जमीन संबंधी कागजात और फायर सेफ्टी संबंधी कागजात जमा नहीं करने के कारण मान्यता रोक दी गयी है। एनसीटीइ ने ग्रीजली कॉलेज अॉफ एजुकेशन कोडरमा, देवसंघ इंस्टीट्यूट अॉफ प्रोफेशनल स्टडीज एंड एजुकेशनल रिसर्च देवघर और अल-इकरा टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज धनबाद की मान्यता पुन: बहाल कर दी है।

यह भी पढ़े…Coronavirus : पूरे देश में कोरोना के 46,963 नए मामलों की पुष्टि, रिकवरी रेट 91.53 प्रतिशत पहुंचा…

इसके अलावा तैयब मेमोरियल टीचर्स ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट धनबाद, डीबीएमएस कॉलेज अॉफ एजुकेशन जमशेदपुर, रंभा कॉलेज अॉफ एजुकेशन, एनएन घोष सनातन टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज रांची, कैंब्रिज टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज कोडरमा, केके टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज गोविंदपुर धनबाद और नरसिंह कॉलेज अॉफ एजुकेशन हजारीबाग को अलग-अलग मामले में कारण बताअो नोटिस जारी किया गया है।इनमें से कुछ कॉलेजों ने जवाब दिया है, लेकिन एनसीटीइ ने फिलहाल कोई निर्णय नहीं लिया है।नोटिस का जवाब संतोषप्रद नहीं पाये जाने पर एनसीटीइ भुवनेश्वर द्वारा आगे की कार्रवाई की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here