• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Jharkhand News : हड़ताल का मिलाजुला असर , मजदूर किसान और कर्मचारियों के विरुद्ध सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ एक दिवसीय बंद…

1 min read

Jharkhand News : हड़ताल का मिलाजुला असर , मजदूर किसान और कर्मचारियों के विरुद्ध सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ एक दिवसीय बंद…

NEWSTODAYJ पलामू : हड़ताल का मिलाजुला असर कोयला उद्योग में संयुक्त मोर्चा के द्वारा मजदूर किसान और कर्मचारियों के विरुद्ध सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ एक दिवसीय बंद का मिलाजुला असर.भारत सरकार के मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ पूरा कोल इंडिया में एक दिवसीय देशव्यापी हड़ताल. बंद के मद्देनजर सीसीएल बरकासयाल मैं कोयले के उत्पादन और ट्रांसपोर्टिंग पर पड़ा असर.

यह भी पढ़े…Dhanbad News : 10 श्रमिक संगठनों के द्वारा आहूत देशव्यापी हड़ताल का असर…

इस मौके पर ने कहा कि सरकार वर्तमान सरकार मजदूरों के विरोध में काम कर रही है जो मजदूर किसान और कर्मचारियों के लिए भीअभिशाप बनता जा रहा है.कोयला उद्योग के कामगारों की निम्न मांगे कोयला उद्योग में कमर्शियल माइनिंग पर तत्काल रोक कोल इंडिया के शेयरों के विनिवेश या बायबैक को तुरंत रोक को और कोल इंडिया सिंगरौली कोल इंडिया कंपनी को कमजोर करने के लिए कदम का तुरंत रोक, देश के मजदूरों की मांगे सभी मजदूर विरोधी श्रम कोड एवं किसान विरोधी कानून वापस ले ।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : एक दिवसीय देशव्यापी हड़ताल का कोयला उद्योग में असर…

न्यूनतम वेतन प्रतिमाह 24000 करवाने बैंक बीमा रेलवे रक्षा पेट्रोलियम बंदरगाह एयरपोर्ट सहित सार्वजनिक क्षेत्र के निजीकरण के खिलाफ निजी व सरकारी क्षेत्र के छटनी ग्रस्त श्रमिकों एवं कर्मचारियों को रोजगार बहाली, गैर आयकर दाता परिवारों को भी हर महीने 7500रु देने जरूरतमंद को प्रतिमाह 10 किलो मुफ्त राशन देने मनरेगा में 200 दिन काम और ₹600 मजदूरी देने का इसका शहरी क्षेत्र में विस्तार करने काऔर भी कई मांगे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.