• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Jharkhand News : छह नाबालिग लड़कियों को तस्करों के चंगुल से बचाया गया, राजधानी एक्सप्रेस से ले जाया जा रहा था दिल्ली…

1 min read

Jharkhand News : छह नाबालिग लड़कियों को तस्करों के चंगुल से बचाया गया, राजधानी एक्सप्रेस से ले जाया जा रहा था दिल्ली…

NEWSTODAYJ : रांची रेलवे स्टेशन पर नन्हे फरिश्ते की सतर्कता से छह लड़कियों को तस्करों के चंगुल से बचाया गया। ये इन्हें राजधानी एक्सप्रेस से दिल्ली ले जा रहे थे। सभी की उम्र 18 साल से कम है। सभी लड़कियों से पूछताछ के बाद इन्हें आगे की कार्रवाई के लिए चाइल्ड लाइन रांची को दे दिया गया है।

यह भी पढ़े…Karthik Purnima 2020 : नदियों में आस्था की डुबकी श्रद्धालुओं ने लगाई…

यहां से जानकारी जुटा कर इनकी इच्छानुसार इन्हें घर या सरकारी संस्थान में भेज दिया जाएगा।आरपीएफ रांची के इंचार्ज अमिताभ आनंद वर्धन ने बताया कि निरीक्षक सुनीता पात्रा के नेतृत्व में नन्हे फरिश्ते की टीम चेकिंग अभियान चला रही थी। इसी दौरान उन्हें ये छह नाबालिग लड़कियां रांची स्टेशन पर राजधानी एक्सप्रेस का इंतजार कर रहीं थी। जब इनसे पूछताछ किया गया तब पता चला कि इनके साथ कोई गार्जियन नहीं हैं। इन्हें घरेलू काम लिए दिल्ली भेजा जा रहा है। लेकिन दिल्ली में कहां जाना है।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : जमीन कारोबारी से 30 लाख की रंगदारी की मांग , PLFI के नाम पर रंगदारी की मांग…

किनके पास जाना है इनकी कोई जानकारी इन्हें नहीं थी। इनमें चार बच्चियां खूंटी की, एक गुमला की और एक सिमडेगा की बच्ची है।आरपीएफ इंचार्ज ने बताया कि रांची स्टेशन पर कोई भी तस्कर इनके साथ नहीं था। ये इन्हें रांची स्टेशन पर छोड़कर चले गए। उन्होंने बताया कि इनका एक पूरा सिंडिकेट होता है। ये इन्हें रांची में ट्रेन पर बिठाकर चले जाते हैं। इनके समूह के सदस्य दिल्ली स्टेशन पर इन्हें उतार लेता। इन बच्चियों को भी नहीं पता था कि दिल्ली में ये किनसे मिलने वाली हैं या किनके पास जा रही हैं।रेलवे सुरक्षा बल के रांची मंडल की तरफ से तस्करी की शिकार बच्चों को बचाने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : मेयर ने पीसीसी रोड व नाली निर्माण कार्य का किया शिलान्यास, 9 माह में होगा पूरा..

इस अभियान को नन्हे फरिश्ते का नाम दिया गया है। आरपीएफ इंचार्ज अमिताभ आनंद वर्धन ने बताया कि 15 अगस्त से इस अभियान की शुरुआत की गई थी। इसका उद्देश्य बच्चों को बहला-फुसला कर ले जाने वाले तस्करों के चंगुल से मुक्त कराना है। उन्होंने बताया कि अब तक ऐसे 31 बच्चों को टीम बचा चुकी है। साथ ही 10 तस्करों को भी गिरफ्तार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.