Jharkhand News : अवैध बालू ढुलाई पर अंकुश लगाने के लिए बालू घाट का निरीक्षण करने पहुंचे सीओ…

1 min read

Jharkhand News : अवैध बालू ढुलाई पर अंकुश लगाने के लिए बालू घाट का निरीक्षण करने पहुंचे सीओ…

NEWSTODAYJ पाकुड़ : महेशपुर में अवैध बालू उठाव पर रोक लगाने के लिए प्रशासन द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है. बावजूद अवैध तरीके से बालू का उठाव करने वाले बाज नही आ रहे है. अंचलाधिकारी रितेश जयसवाल द्वारा भी लगातार अवैध गतिविधियों पर रोक लगाने का प्रयास किया जा रहा है. इसके तहत शनिवार को सीओ रितेश जायसवाल ने अवैध बालू उठाव के खिलाफ रोक लगाने के उद‍्देश्य से बाबूपुर बालू घाट निरीक्षण किया. हालांकि सीओ को देखते ही बालू उठाव कर रहे ट्रैक्टर चालक ट्रैक्टर लेकर इधर-उधर भागने लगे.

यह भी पढ़े…Crime News : जमीन कारोबारी पर जानलेवा हमला , थाने में लिखित आवेदन दे कर लगाया जाना माल की गुहार…

सीओ रितेश जायसवाल ने बताया कि अवैध बालू उठाव के खिलाफ बाबूपुर बालू घाट में निरीक्षण किया गया. परंतु अवैध तरीके से बालू उठाव कर रहे लोग देखते ही ट्रैक्टर लेकर भाग गये. सीओ ने बताया कि प्रयाप्त कर्मी नही होने के कारण अवैध तरीके से बालू उठाव कर रहे लोग भागने मे सफल रहे. सीओ श्री जयसवाल ने बताया कि अवैध बालू उठाव के खिलाफ लगातार छापेमारी अभियान जारी रहेगा. अवैध उठाव में संलिप्त लोगों को चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी।

ट्रैक्टरों में क्षमता से अधिक की होती है लोडिंग

महेशपुर प्रखंड क्षेत्र में ओवर लोडिंग का भी मामला सामने आता रहा है. दो गुना मुनाफा कामने के चक्कर मे ट्रैक्टरों द्वारा क्षमता से अधिक बालू की ढुलाई की जाती है. हालांकि प्रशासन की ओर से कई बार ओवर लोडिंग पर भी कार्रवाई की गयी है. स्थानीय लोगों की माने तो ओवर लोडिंग के कारण सड़कों पर भी इसका असर पड़ रहा है तो वही सरकार के राजस्व पर भी चुना लगाया जा रहा है।

बंगाल की गाड़ियों का भी रहता है आना-जाना

महेशपुर प्रखंड क्षेत्र बंगाल की सीमा से सटा हुआ इलाका है. जिसकारण बालू का अवैध तरीके से उठाव बंगाल से आये ट्रैक्टरों द्वारा भी किया जाता है. जिसपर लगाम लगाने के लिए प्रशासन को काफी मशक्कत करना पड़ता है. जानकारी के अनुसार इंग्लिशपाड़ा घाट, चंडालमारा घाट एवं नुराई घाट में बंगाल के लोगों द्वारा भी ट्रैक्टर से अवैध तरीके से बालू का उठाव किया जाता है. विशेषकर इंग्लिशपाड़ा व नुराई घाट बंगाल से सटा हुआ इलाका है. जहां बंगाल से आये ट्रैक्टर बहुत ही आसानी से बालू का उठाव कर फिर बंगाल पहुंच जाते है.में बंगाल के ट्रैक्टरों द्वारा बालू का धड़ल्ले से उठाव किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.