Jharkhand News : 10वीं क्लास के छात्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली , सुसाइड नोट बरामद…

Jharkhand News : 10वीं क्लास के छात्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली , सुसाइड नोट बरामद…

NEWSTODAYJ : रांची में एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। यहां 10वीं क्लास के छात्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।इस घटना से आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई।सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।साथ ही मामले की जांच शुरू कर दी गई है। कहा जा रहा है कि पुलिस को उसके कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है,

यह भी पढ़े…Coronaviurs : झारखंड राज्य में 54 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले , 109 मरीज ठीक हुए…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

जिसमें उसने खुदकुशी की वजह बताई है।जानकारी के मुताबिक, मामला अरगाेड़ा इलाके का है।छात्र की उम्र 16 साल थी।मृतक के घर वालों ने बताया कि वह सुबह का नाश्ता करने के बाद अपने कमरे में चला गया। ऐसे में घरवालाें काे लगा कि वह पढ़ाई करने गया होगा।दाेपहर 12 बजे मां उसे खाना खाने के लिए आवाज लगाई तो उसने कुछ नहीं बोला।जब मां ने दरवाजा खटखटाया तो भी काेई जवाब नहीं मिला।ऐसे में मां ने शाेर मचाया।दरवाजे की कुंडी ताेड़ी गई ताे छात्र कमरे में फांसी पर लटका हुआ था।इसके बाद उसे फंदे से उतारकर आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डाॅक्टराें ने उसे मृत घाेषित कर दिया. इसके बाद पिता ने अरगाेड़ा पुलिस काे इसकी सूचना दी।फिर शव काे पाेस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

यह भी पढ़े…National Voters Day 2021 : निर्वाचन आयोग के योगदान की सराहना करने का अवसर है राष्ट्रीय मतदाता दिवस – पीएम मोदी…

स्थानीय थाना पुलिस ने बताया कि सुसाइड नाेट में छात्र ने लिखा है कि वह एक्टर बनना चाहता था, लेकिन सबलोग इंजीनियर बनाने पर तुले थे।इसलिए मैं जा रहा हूं।पुलिस ने सुसाइड नाेट जब्त कर लिया है।छात्र के परिजनाें ने पुलिस काे बताया कि उसकी साेमवार काे परीक्षा थी। रविवार सुबह पिता ने उससे कहा था कि पढ़ाई पर ध्यान दाे, लेकिन सही ढंग से तैयारी न हाेने के कारण वह तनाव में था।वहीं, स्कूल के शिक्षक ने बताया कि स्कूल के जूनियर सेक्शन के स्टूडेंट्स काे ड्रामा और एक्टिंग में ज्यादा पार्टिसिपेट नहीं कराया जाता है।सीनियर सेक्शन यानी 11वीं और 12वीं के बच्चे ही ज्यादा पार्टिसिपेट करते हैं।हाे सकता है कि वह बाहर एक्टिंग में अच्छा हाे।वैसे पढ़ाई में वह अच्छा स्टूडेंट था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here