Jharkhand High Court : छिन्नमस्तिके मंदिर खुलवाने के लिए पूर्व मंत्री ने किया पीआईएल दाखिल…

0
न्यूज़ सुने

Jharkhand High Court : छिन्नमस्तिके मंदिर खुलवाने के लिए पूर्व मंत्री ने किया पीआईएल दाखिल…

NEWSTODAYJ : गोमिया (बेरमो)। राज्य के पूर्व मंत्री माधव लाल सिंह ने राजरप्पा स्थित छिन्नमस्तिके मंदिर श्रद्धालुओं के  खोलने के लिए झारखण्ड हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। श्री सिंह ने शनिवार को गोमिया बैंक मोड में प्रेस वार्ता कर यह जानकारी दी। प्रेस को संबोधित करते हुए श्री सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण देश में अमूमन सभी तरह के औधोगिक प्रतिष्ठान, शिक्षण संस्थान, धार्मिक स्थल, आवागमन के साधन सहित अन्य सभी कार्य बंद थे।

यह भी पढ़े…Containment Zone : धनबाद में 6, निरसा में 3 कंटेनमेंट जोन का निर्माण, लगाया गया कर्फ्यू…

लेकिन समय के साथ धीरे धीरे स्थिति सामान्य होने लगी है। इसी आलोक में सर्वोच्य न्यायलय केस संख्या 7816/2020 में एक आदेश पारित करते हुए झारखण्ड के प्रसिद्ध ज्यार्तिलिंग देवघर स्थित बैजनाथधाम एवं बासुकिनाथ धाम को सोशल डिसटेंसिग का पालन करते हुए खोलने का आदेश दिया है। लेकिन लॉकडाउन के कारण यह मंदिर मौजूदा समय पर भी बंद है। मंदिर के बंद होने से एक ओर श्रद्धालुओं की आस्था भी मंदिर की ओर टकटकी निगाह से खुलने की प्रत्याशा में है।

यह भी पढ़े…monsoon session 2020 : पांच दिनों का झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र का संचालन आज से , विपक्ष सरकार पर हमला बोला , सत्ता भी पलटवार किए…

वहीं वहां के हजारों दुकानदार यथा पूजा पाठ, फल-फुल विक्रेता, नाव चलक, नाई, होटल दुकानदार के बीच जीवन यापन की समस्या खडी हो गई। राज्य सरकार के द्वारा अनलॉक किये जाने की प्रक्रिया में विगत 28 अगस्त 20 को भी मंदिर खोलने से संबंधित कोई आदेश नही दिया गया। लिहाजाउन्होंने आस्था और मंदिर से जुडे लोग जिनका जीवन यापन वहां से होता था ।

यह भी पढ़े…Coronaviurs update India : भारत में 24 घंटे में Corona के 96,000 से अधिक नए मामले , 1,172 मौते…

उसे ध्यान में रखते हुए मां छिन्नमस्तिके मंदिर खुलवाने के लिए झारखण्ड उच्च न्यायलय में एक पीआईएल (जनहित याचिका) 09 सितम्बर 2020 को दायर किया है। इस प्रेस वार्ता में पूर्व मुखिया जगदीश स्वर्णकार, समजासेवी शेखर प्रजापति, विजय जैन, केदारनाथ पंडा मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here