Jharkhand Budget Session 2021 : झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू…

Jharkhand Budget Session 2021 : झारखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू…

NEWSTODAYJ रांची : झारखंड विधानसभा में शुक्रवार से बजट सत्र शुरू होने जा रहा है। बजट सत्र की शुरूआत राज्यपाल के अभिभाषण से होगी. बजट सत्र इस बार लगभग एक महीने चलेगा. आने वाली 3 मार्च को सरकार 2021-22 का बजट (Jharkhand Budget 2021-22) पेश करेगी. इस दौरान वित्तीय वर्ष 2021-22 की आय-व्ययक की अनुदान मांगों पर बहस होगी. इसी के ही साथ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, प्रश्न काल, ध्यानाकर्षण और शून्य काल के जरिए जनप्रतिनिधि राज्य सरकार का ध्यान महत्वपूर्ण मसलों की ओर आकर्षित करेंगे।यह बजट सत्र सभी पार्टियों के लिए बेहद खास है.

यह भी पढ़े…Dhanbad News : शहीद नेपाल रवानी का 31वाँ सहादत दिवस , मनाया गया…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

दरअसल पिछले साल बजट सत्र के दौरान ही राज्य में लॉक डाउन लगा था और सत्र को समय से पहले ही स्थगित करना पड़ा था।उसके पिछले साल कोरोना के कारण केवल मानसून सत्र और एक दिन के विशेष सत्र के अलावा कोई और सत्र आयोजित नहीं हुआ था. तो इस बार सत्ता पक्ष और विपक्ष लंबे समय बाद आमने-सामने होंगे. ऐसे में जनहित और दलीय मसलों पर टकराव लाजिमी है।झारखण्ड विधानसभा के बजट सत्र के दौरान किसी को भी बिना कोरोना टेस्ट के विधानसभा परिसर में एंट्री नहीं मिलेगी. परिसर में एंट्री से पहले विधायकों, मंत्रियों, विधानसभा, सचिवालय कर्मियों और पत्रकारों को कोरोना जांच प्रमाण पत्र दिखाना होगा. नई गाइडलाइन और निर्देश के अनुसार, 72 घंटे पहले तक की ही कोविड रिपोर्ट मान्य होगी।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव SNMMCH के निरीक्षण के दौरान बोले 24 घंटे के अंदर जर्जर क्वार्टर में रह रहे लोग खाली करे…

उसके पहले कराई गई रिपोर्ट को नहीं माना जाएगा।सीएम हेमंत सोरेन ने सदन से एक दिन पहले कैबिनेट की बैठक बुलाई थी।इस बैठक में सीएम ने विधायकों के साथ मिलकर सदन में भाजपा-आजसू के हर सवाल का कैसे और किस अंदाज में जवाब देना है इसकी रणनीति बनाई. वहीं बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता अभी तक स्पीकर ने नहीं दी है तो इस बात को लेकर अगर बीजेपी ने सदन में हंगामा किया तो उससे निपटने के लिए भी सत्तापक्ष ने पूरी तैयार कर ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here