• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

High Court : छिन्नमस्तिके मंदिर खुलवाने के लिए पूर्व मंत्री ने हाईकोर्ट में दायर की जनहित याचिका…

1 min read

High Court : छिन्नमस्तिके मंदिर खुलवाने के लिए पूर्व मंत्री ने हाईकोर्ट में दायर की जनहित याचिका…

NEWSTODAYJ रांची : रजरप्पा स्थित मां छिन्नमस्तिके मंदिर आम लोगों के लिए खोले जाने की मांग को लेकर पूर्व मंत्री माधवलाल सिंह ने झारखंड हाईकोर्ट में शनिवार को जनहित याचिका दायर की हैं। दायर याचिका में कहा गया है कि कोरोना महामारी के कारण मंदिर के बंद होने से स्थानीय लोग को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़े…Protest : कांग्रेस 20 को करेगी बिजली विभाग के मुख्य अभियंता के घर के बाहर प्रदर्शन…

दुकानदार, पूजा-पाठ, फल फूल विक्रेता, नाव चालक, होटल दुकानदार के बीच जीवन यापन की समस्या खड़ी हो गई है। याचिका में कहा गया है कि राज्य सरकार की ओर से अनलॉक किए जाने की प्रक्रिया में 28 अगस्त को भी मंदिर खोलने से संबंधित कोई आदेश नहीं दिया गया।

यह भी पढ़े…Ivory smuggler : हाथी दांत तस्कर एक बार फिर सक्रिय , जंगली हाथी की बिजली के तार से करंट लगाकर हत्या कर दी…

कोविड-19 से जुड़ी गाइडलाइन और अनलॉक से जुड़ी एडवाइजरी के तहत राज्य सरकार को रजरप्पा स्थित छिन्नमस्तिके मंदिर खोलने का निर्देश दें। जिससे आम लोग और मंदिर से जुड़े लोगों के समक्ष जीवन यापन की समस्या खड़ी ना हो। उल्लेखनीय है कि नवरात्रि के समय छिन्नमस्तिके मंदिर (प्रसिद्ध सिद्ध पीठ) लोगों के आस्था का प्रतीक रहा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.