Hathras incident : मीडिया को गांव के अंदर जाने की मिली इजाजत , नेताओं के लिए “NO ENTRY”…

0
न्यूज़ सुने

Hathras incident : मीडिया को गांव के अंदर जाने की मिली इजाजत , नेताओं के लिए “NO ENTRY”…

NEWSTODAYJ(एजेंसी) नई दिल्‍ली : हाथरस गैंगरेप के चारों तरफ से आलोचना का शिकार होने के बाद यूपी सरकार ने गांव में मीडिया की एंट्री पर जो बैन लगाया था, अब उसे हटा दिया गया है। पुलिसवालों ने गांव के मेन रास्ते से चौराहे पर से बैरिकेटिंग हटा लिया है और अब मीडिया गांव के अंदर जा सकती है।

यह भी पढ़े…Bokaro News : 8 अक्टूबर से छिन्मस्तिका और भद्राकाली  मंदिर खुलेगी-माधव लाल…

पुलिस ने अभी तक मीडिया को परिवार के सदस्यों से मिलने से रोका और अधिकारियों पर आरोप हैं कि उन्‍होंने पीड़ित परिवार के फोन को जब्त कर लिया। गुरुवार की सुबह से पुलिस ने मुख्य सड़क पर गांव से लगभग 2 किमी की दूरी पर बैरिकेड्स लगा दिए थे और यहां पर पहुंचने वाले सभी रास्‍तों को बंद कर दिया था। पुलिसकर्मियों को कीचड़ की पटरियों और खेतों में तैनात कर दिया ताकि किसी भी “बाहरी” को गांव तक पहुंचने से रोका जा सके।

यह भी पढ़े…customer Care Center : गुलज़ारबाग़ में ग्राहक सेवा केंद्र का हुआ उद्घाटन…

शुक्रवार की सुबह, एक किशोर ने कहा कि वह पीड़ित उसकी चचेरी बहन थी और उसने बैरिकेड्स पर इंतजार कर रहे पत्रकारों से संपर्क किया। उसने आरोप लगाया कि प्रशासन ने परिवार को बंद कर दिया है, उनके मोबाइल फोन जब्त कर लिए हैं और पीड़ित के पिता को भी मारा है। उसने आगे आरोप लगाया कि पुलिस ने बाहरी दुनिया के साथ परिवार के संपर्क को काट दिया। उन्होंने हमारे मोबाइल फोन को जब्त कर लिया है और हमें मीडिया से मिलने की अनुमति नहीं दी है। किशोर ने कहा कि एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को पीड़ित के पिता को सीने पर लात मारी, जिससे वह बेहोश हो गया।

यह भी पढ़े…Gandhi Jayanti 2020 : तेजस्वनी परियोजना के द्वारा गांधी जंयती पर कई कार्यक्रम का किया गया आयोजन…

हालांकि पुलिस ने आरोपों का खंडन किया और बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 144, जो चार या अधिक लोगों को एक साथ इकट्ठा होने पर प्रतिबंधित करती है उस क्षेत्र में लगी है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि एक विशेष जांच दल (SIT) द्वारा जारी जांच प्रतिबंधों के कारण किसी को भी गांव में जाने नहीं दिया।

यह भी पढ़े…Lal Bahadur Shastri Jayanti : लाल बहादुर शास्त्री के 116 में जयंती पर किया गया श्री राम खिचड़ी का वितरण….

जा रही है। तीन सदस्यीय एसआईटी की टीम गांव में जांच कर रही है। तब तक, मीडिया का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। हम कानून और व्यवस्था भी बनाए हुए हैं। इसलिए, गांव के अंदर किसी भी राजनीतिक प्रतिनिधिमंडल और व्यक्तियों की अनुमति नहीं है।

गांव जाएंगे अधिकारी

इसके साथ ही सूत्रों से जानकारी मिल रही है कि यूपी के अपर मुख्य सचिव आज हाथरस जा सकते हैं। उनके साथ डीजीपी भी आज हाथरस जा सकते हैं और परिवार के लोगों से मुलाकता कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि सीएम योगी के निर्देश पर यह अधिकारी हाथरस जा सकते हैं।

SP समेत 5 सस्‍पेंड

यूपी सरकार ने हाथरस के SP विक्रांत वीर, सीओ राम शब्द समेत 5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। इतना ही नहीं, निलंबित हुए इन पुलिसकर्मियों के अलावा इस केस से जुड़े सभी लोगों के नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट भी कराए जाएंगे। यूपी सरकार ने ये कार्रवाई एसआईटी जांच की पहली रिपोर्ट आने के बाद किया है। हालांकि अभी तक डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। वहीं, हाथरस के नए SP विनीत जायसवाल को बानाया गया है।

प्रियंका ने बोला हमला

हाथरस कांड में सभी पुलिसकर्मियों औऱ इस केस से जुड़े लोगों के साथ ही पीड़ित परिवार का नार्को टेस्ट कराने पर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर करारा हमला बोला है।

प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ‘यूपी सरकार नैतिक रूप से भ्रष्ट है। पीड़िता को इलाज नहीं मिला, समय पर शिकायत नहीं लिखी, शव को जबरदस्ती जलाया, परिवार कैद में है, उन्हें दबाया जा रहा है। अब उन्हें धमकी दी जा रही कि नार्को टेस्ट होगा। ये व्यवहार देश को मंजूर नहीं। पीड़िता के परिवार को धमकाना बंद कीजिए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here