• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Fraud : पूर्व जस्टिस की पत्नी से जमीन दिलाने के नाम पर ठगी , FIR दर्ज…

1 min read

Fraud : पूर्व जस्टिस की पत्नी से जमीन दिलाने के नाम पर ठगी , FIR दर्ज…

  • जमीन का जाली पेपर महफूज अली ने तैयार किया था। एक पक्ष के लोग जमीन को आदिवासी जमीन बताते हैं।
  • इसी मामले में एक दूसरी प्राथमिकी भी दर्ज हुई है। जिसे जस्टिस की पत्नी द्वारा आरोपित बनाये गए महेंद्र महतो ने दर्ज कराया है।

NEWSTODAYJ : रांची के एक पूर्व जस्टिस की पत्नी से जमीन दिलाने के नाम पर ठगी की गई है। इसे लेकर पुंदाग ओपी में केस दर्ज किया गया है। मामला जस्टिस हरिशंकर प्रसाद की पत्नी नीता रानी सिन्हा की शिकायत पर रविवार को दर्ज किया गया है। जिसमें न्यू पुंदाग न्यासी महेंद्र महतो को आरोपित बनाया गया है।

यह भी पढ़े…Crime : जीजा – साली का रिश्ता का शर्मशार , जबरदस्ती जंगल ले जा कर शरीक सम्बंध बनने का आरोप…

पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।इधर, इसी मामले में एक दूसरी प्राथमिकी भी दर्ज हुई है। जिसे जस्टिस की पत्नी द्वारा आरोपित बनाये गए महेंद्र महतो ने दर्ज कराया है। महेंद्र महतो द्वारा दर्ज कराए गए केस में अशोक कच्छप और महफूज अली को ठगी का आरोपित बनाया गया है। पुलिस के अनुसार आरंभिक जांच में यह बात सामने आई है।

यह भी पढ़े…Politics : झारखंड राज्य में जितने भी सारे नेताओ की नामि बेनामी सम्पत्ति और कारोबार उजागर करे झारखण्ड सरकार : भाजपा…

कि आरोपितों ने जाली पेपर के आधार पर जस्टिस की पत्नी को पूर्व में जमीन बेच दिया था।इस जमीन का जाली पेपर महफूज अली ने तैयार किया था। एक पक्ष के लोग जमीन को आदिवासी जमीन बताते हैं, जबकि दूसरे पक्ष के लोग जमीन को जेनरल बताते हैं। दोनों एफआईआर पर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें