fodder scam : “लालू प्रसाद यादव” का मुश्किलें बढ़ी , जमानत रोकने के लिए CBI ने अदालत में हलफनामा दायर किया…

0
[URIS id=45547]
न्यूज़ सुने

fodder scam : “लालू प्रसाद यादव” का मुश्किलें बढ़ी , जमानत रोकने के लिए CBI ने अदालत में हलफनामा दायर किया…

NEWSTODAYJ रांची : चारा घोटाले के मामलों में लालू की जमानत रोकने के लिए सीबीआई ने अदालत में हलफनामा दायर किया। इसमें किसी भी मामले में सजा की अवधि पूरी नहीं होने का तर्क देकर सीबीआई ने अदालत में लालू की जमानत का विरोध किया है।सीबीआई ने सीआरपीसी की धारा 427 को इसका आधार बनाया है।चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में लालू की जमानत याचिका पर झारखंड हाईकोर्ट में नौ अक्टूबर को होने वाली सुनवाई को लेकर सीबीआई ने अपना पक्ष हाईकोर्ट में दाखिल कर दिया है।सीबीआई के अनुसार,लालू प्रसाद को चार मामले में अलग-अलग सजा हुई है।

यह भी पढ़े…CM three day tour : झारखंड मजदूर प्रधान राज्य है, यहां के मजदूरों से ही देश का आर्थिक पहिया घूमता – मुख्यमंत्री…

लेकिन कोर्ट ने सभी सजा एक साथ चलाने का आदेश नहीं दिया है। इस कारण सभी सजा एक साथ नहीं चल सकती।सीआरपीसी की धारा 427 में प्रावधान के अनुसार किसी व्यक्ति को एक से अधिक मामलों में दोषी करार देकर सजा सुनायी जाती है और अदालत सभी सजा एक साथ चलाने का आदेश नहीं देती है, तो उस व्यक्ति की एक सजा की अवधि समाप्त होने के बाद ही उसकी दूसरी सजा शुरू होगी।चारा घोटाले के चार मामलों में लालू प्रसाद को दोषी करार देते हुए सजा सुनायी गई है। किसी भी आदेश में सभी सजा एक साथ चलाने का उल्लेख नहीं किया गया है।

यह भी पढ़े ..Petrol diesel cheaper : पेट्रोल और डीजल में आज लागतार दूसरे दिन भी गिरावट…

इस कारण लालू प्रसाद पर यह धारा लागू होती है और जब तक एक सजा की पूरी अवधि वह हिरासत में व्यतीत नहीं कर लेते, दूसरी सजा लागू नहीं हो सकती। इस आधार पर लालू प्रसाद की यह दलील की उन्होंने आधी सजा काट ली है, सही नहीं है और उन्हें जमानत प्रदान नहीं की जा सकती।सीबीआई के अनुसार, लालू प्रसाद की ओर से अभी तक अदालत से सभी सजा एक साथ चलाने के लिए कोई आवेदन नहीं दिया गया है। ऐसे में सीआरपीसी की धारा 427 के तहत उन्हें आधी सजा काट लेने के आधार पर जमानत का लाभ नहीं दिया जा सकता।हालांकि लालू प्रसाद की ओर से इसका विरोध भी किया जा रहा है।

यह भी पढ़े…Bihar Assembly Election 2020 : आज बिहार की 7 महत्वपूर्ण परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे – मोदी…

इसमें कहा गया है कि सीबीआई ने चारा घोटाले के किसी मामले में यह मुद्दा नहीं उठाया है। हाईकोर्ट पूर्व में लालू प्रसाद को दो मामले में आधी सजा काटने पर जमानत दे चुका है। इस कारण सीबीआई की ओर से दी गई यह दलील सही नहीं है।लालू के खिलाफ पांच मामले झारखंड में चारा घोटाले के पांच मामलों में लालू प्रसाद आरोपी हैं। चार मामलों में उन्हें सजा सुनायी गई है, जबकि डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में सुनवाई जारी है। देवघर और चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में उन्हें जमानत मिल गई है।किस मामले में कितनी सजा।

यह भी पढ़े…Coronavirus update India : देश में पिछले 24 घंटे में 83,809 नये मामले आए,करोना से 1054 मौते हो चुकी…

पहला मामला : चाईबासा कोषागार से अवैध तरीके से 37.7 करोड़ रुपये निकालने का आरोप। लालू समेत 44 अभियुक्त।सजा- मामले में 5 साल की सजा हुई।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : ऑनलाइन कोविड-19 मेनेजमेंट सिस्टम , डाटा एंट्री ऑपरेटरों को दिया गया प्रशिक्षण…

दूसरा मामला- देवघर सरकारी कोषागार से 84.53 लाख रुपये की अवैध निकासी का आरोप। लालू समेत 38 पर केस सजा- लालू को साढ़े तीन साल की सजा और 5 लाख का जुर्माना।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : ऑनलाइन कोविड-19 मेनेजमेंट सिस्टम , डाटा एंट्री ऑपरेटरों को दिया गया प्रशिक्षण…

तीसरा मामला- चाईबासा कोषागार से 33.67 करोड़ रुपये की अवैध निकासी का आरोप। लालू समेत 56 आरोपी।सजा- लालू दोषी करार, 5 साल की सजा।

यह भी पढ़े…Assume charge : 17 वें पुलिस अधीक्षक के रूप में दीपक कुमार सिन्हा ने प्रभार ग्रहण किया…

चौथा मामला- दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी का मामला। लालू प्रसाद यादव दोषी करार।सजा- 2 अलग-अलग धाराओं में 7-7 साल की सजा, 60 लाख जुर्माना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here