Eastern Zonal Railway : ERMC एवं ERMU रेलवे के कथित निजीकरण को लेकर फैला रही है भ्रांति – राणा शुक्ला…

0
[URIS id=45547]
न्यूज़ सुने

Eastern Zonal Railway : ERMC एवं ERMU रेलवे के कथित निजीकरण को लेकर फैला रही है भ्रांति – राणा शुक्ला…

NEWSTODAYJ पाकुड : इस्टर्न रेलवे मेंस काँग्रेस एवं इस्टर्न रेलवे मेंस युनियन शुरू से युनियनबाजी व गुटबाजी के वटवृक्ष को फलीभूत करती रही है जिसकी वजह से आज भी रेलवे में काम कम नेतागीरी की मानसिकता अधिक काम करती है।ये दोनो संगठन नियोजित तरीके से रेल कर्मियों व रेल यात्रियों को गुमराह करने का काम कर रहे हैं।

यह भी पढ़े…Dead body found by rail track : पिता- पुत्र का मिला रेलवे ट्रेक से शव , पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई…

उक्त बातें इस्टर्नल जोनल रेलवे पैसेंजर्स एशोसिएशन के सचिव सह परामर्शदात्री समिति सदस्य राणा शुक्ला ने एक विशेष भेंट में हमारे संवाददाता से कही । रेलयात्रियों को लाॅकडाउन मे सुविधा पहुचाने के इजरप्पा के प्रयास, रेलवे को लेकर केद्र सरकार की योजना एवं उक्त योजना के बाबत आम लोगो तक फैलाई जा रही भ्रांति व दुष्प्रचार के मुद्दे पर इजरप्पा के सचिव शुक्ला ने खुलकर बात की ।

यह भी पढ़े…Senior leader hospitalized : RJD के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह की तबीयत बिगड़ी, दिल्ली AIIMS के ICU में भर्ती…

इजप्पा के सचिव ने कहा कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर इस अनुभाग के रेलवे यात्रियों को सुविधा दिलाने की अपेक्षा पर रेल और झारखंड सरकार की अनदेखी को देखते हुए इजरप्पा ने जी एम व चीफ सेक्रेटरी को इस अनुभाग में क्रमशः वनाँचल एक्सप्रेस के परिचालन, कोलकाता पदादिक एक्सप्रेस के ठहराव एवं साहेबगंज रामपुरहाट रेलखंड में दो जोड़ा इ एम यू ट्रेन चलाने हेतु पत्र लिखा ।

यह भी पढ़े…Coronaviurs Update : देश में करोना का लगातार कहर 24 घंटे में 89 हजार पार नए केस मिली , 1,115 करोना से मौते हुई (जाने ताजा अपडेट)…

केंद्र सरकार के रेलवे को लेकर जारी योजनाओं के बाबत शुक्ला ने कहा कि रेलवे की बेहतरी के लिए केंद्र सरकार कुछ रूटों को कतिपय भेंडरों को पट्टा या लीज के आधार पर दे रही है जो कदापि निजीकरण नही है, लेकिन इ आर एम सी एवं इ आर एम यू जैसे संगठन बेवजह इसे रेलवे के निजीकरण बताकर रेलवेकर्मी व रेलयात्रियों के बीच भ्राँति फैलाने का काम कर रहे हैं । श्री शुक्ला ने खुलकर कहा कि पट्टा देना कभी भी स्वामित्व के निजीकरण का आधार नही हो सकता है।

यह भी पढ़े…SSR Case : भायखला जेल पहुंची रिया, जमानत के लिए आज फिर लगाई याचिका…

आज भी रेलवे की जितनी ट्रेने चल रही है वो पूर्णतः केंद्र सरकार के स्वामित्व में ही है हाँ इसके अतिरिक्त 150 ट्रेनो को पट्टे पर दिया जा रहा है जो कदापि रेलवे का निजीकरण नही है । एक सवाल के जबाब में राणा शुक्ला ने कहा कि उपरोक्त दोनो संगठन अपनी पारंपरिक अकर्मण्यता को छुपाने के लिए जानबूझकर ऐसी भ्रांति फैला रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here