• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Dhanbad News : तोपचांची झील पर्यटन प्रेमियों को आकर्षित करती…

1 min read

Dhanbad News : तोपचांची झील पर्यटन प्रेमियों को आकर्षित करती…

NEWSTODAYJ : कोरोना के भय से बीता यह साल समाप्त होने को है।और साल की समाप्ति में याद आती है।पिकनिक स्थलों की।धनबाद के कई पिकनिक स्थलों में प्राकृतिक वादियों में वसा तोपचांची झील भी एक पिकनिक स्थल है।जो पर्यटन प्रेमियों को आकर्षित करती है।धनबाद जिले के मुख्यालय से करीब 45 किलोमीटर दूर ब्रिटिश कालीन तोपचांची झील।NH 32 मुख्य मार्ग से तोपचांची झील के लिए अंदर प्रवेश कर माडा का चेकिंग गेट पार करते ही आपको ऐसा लगेगा जैसे पेड़ों के छायादार वृक्ष आपको तोपचांची झील के लिए स्वागत करती है।

यहाँ देखे वीडियो।

यह भी पढ़े…Deoghar News : बाबा मंदिर पहुंचे DC पूरे मंदिर का निरीक्षण किया…

15 नवंबर 1924 को तत्कालीन बिहार व उड़ीसा के अंग्रेज गवर्नर जनरल हेनरी व्हीलर ने इस झील का उद्घाटन किया था।पारसनाथ पहाड़ियों की श्रृंखला से घिरी इस झील की खासियत यह है कि इसमें सालों भर पानी मौजूद रहता है। पिछले कुछ वर्षों से झील में पानी काफी कम हो गयी थी।लेकिन इस बार औसत से ज्यादा बारिश के कारण झील में पानी ओवर फ्लो कर रही है। इस वर्ष पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए झील के किनारे लीची बागान को भी विकसित किया गया है।पिछले 96 वर्ष से ये झील धनबाद के लोगो की प्यास बुझा रही है।यहां की पानी से ₹1 रूपया का खर्च किए बिना प्राकृतिक तरीके से धनबाद के कतरास व झरिया तक पेयजल आपूर्ति की जाती है। पानी की सप्लाई वेलोसिटी ऑफ एक्सिलिरेशन के नियम पर आधारित इंजीनियरिंग की अनोखी मिसाल है।हालांकि पहले जहां इस तोपचांची झील को देखने के लिए हजारों की संख्या में पर्यटक पहुंचते थे।

यह भी पढ़े…Dhanbad News : मैथन डैम सजधज के तैयार सैलानियों का है इंतजार…

वही लॉकडाउन से पहले ही यह झील वीरान पड़ी हुई है। एक समय मे कभी हिंदी और बांग्ला फिल्मों की शूटिंग तक हुआ करती थी।वीडियो एलबम बनाने वाले अभी भी यहां पहुँचते है। हालांकि हाल के दिनों में अभी भी कुछ लोग इसकी प्राकृतिक खूबसूरती पर फिदा होकर इसकी तस्वीर को अपने कैमरे में कैद करना चाहती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें