NEWSTODAYJ_Dhanbad: निरसा विधानसभा क्षेत्र के ईसीएल मुगमा एरिया की कोलियरी व आउटसोर्सिंग स्थलों के आसपास और अवैध खनन स्थलों से धड़ल्ले से कोयला चोरी होती है. सुरक्षा गार्ड और कोयला चोरों में अक्सर भिड़ंत भी होते रहती हैं. पिछले दिनों ही कापासारा कोलियरी में ईसीएल मुगमा एरिया जीएम ने कोयला चोरों को खदेड़ने के सुरक्षा गार्डों को गोली चलाने का आदेश दिया था जिसमें एक महिला को गोली लगी.

यह भी पढ़े…Dhanbad news:आयुष्मान भारत योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए धनबाद सिविल सर्जन कार्यालय में एक दिवसीय बैठक का आयोजन

वहीं आउटसोर्सिंग खदान और अवैध खनन स्थलों से धड़ल्ले से हो रही कोयले की लूट के कारण अक्सर दुर्घटनाएं भी घट रही हैं. अवैध रूप से कोयला उत्खनन में लोगों को जानें गंवानी पड़ रही हैं. रविवार को कोयला चुनने के दौरान कापासारा में एक व्यक्ति घायल हो गया था जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

इस क्षेत्र में आधा दर्जन कोयला तस्कर सक्रिय हैं. इनके साथ तस्करों का फाइनेंसर और लाइजनर भी हैं जो खड़गपुर से लेकर तमिलनाडु तक, पश्चिम बंगाल से यूपी-बिहार तक कोयला तस्करी के सिंडिकेट चला रहे हैं.

 

अधिकारी पहुंचे कापासारा आउटसोर्सिंग क्षेत्र

अब, ईसीएल मुगमा एरिया की कोलियरी व आउटसोर्सिंग स्थलों के आसपास और अवैध खनन स्थलों से धड़ल्ले से हो रही कोयला चोरी पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस और प्रशासन ने कमर कसी है. सोमवार की शाम एग्यारकुंड प्रखंड सीओ अमृता कुमारी, SDPO पितांबर सिंह खेरवार, निरसा थाना प्रभारी सुभाष सिंह ने कापासारा आउटसोर्सिंग क्षेत्र का निरीक्षण किया.

 

प्रशासनिक अधिकारियों की टीम ने राजा कोलियरी व चापापुर कोलियरी आउटसोर्सिंग परिसर स्थल का निरीक्षण किया. कापासारा आउटसोर्सिंग में पुलिस प्रशासन के वाहन को देख कोयला चोर भाग खड़े हुए. आउटसोर्सिंग परिसर में सन्नाटा पसर गया.

क्या कहते हैं अधिकारी

SDPO पितांबर सिंह खेरवार ने बताया कि ईसीएल मुगमा एरिया में पड़नेवाली विभिन्न कोलियरियों व आउटसोर्सिंग स्थलों से हो रही कोयला चोरी पर अंकुश लगाने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा. इस दिशा में आवश्यक दिशा निर्देश विभागीय अधिकारियों व कर्मियों को दिया गया है. हालांकि इसके बाद भी अवैध कोयला खनन कम होने की संभावना नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *