• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Dhanbad news:झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष के आवंटन को निरस्त करने के लिए विश्व हिंदू परिषद ने उपायुक्त के माध्यम से राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

1 min read

झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष के आवंटन को निरस्त करने के लिए विश्व हिंदू परिषद ने उपायुक्त के माध्यम से राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

NEWSTODAYJ_धनबाद : झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष के आवंटन को निरस्त करने के लिए सोमवार को विश्व हिंदू परिषद ने उपायुक्त माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा।

विश्व हिंदू परिषद के धनबाद जिला महानगर अध्यक्ष हनुमान प्रसाद सिंघल ने कहा कि झारखण्ड विधान सभा अध्यक्ष के आदेश से विशेष समुदाय को नमाज-कक्ष आवंटित किया गया है. जो असंवैधानिक है। भारतीय लोकतंत्र में विधान सभा भवन की अपनी मर्यादा होती है। विधान सभा भवन में राज्य के विकास की निति निर्धारण एवं विधान प्रतिष्ठापित होती है तथा विकास की कार्य योजना निश्चित होती है। विधान सभा की कार्य-प्रणाली में आम जनमानस की आस्था होती है, विश्वास होता है। सदन में निर्धारित नीति, विधान एवं कार्ययोजना सर्वसाधारण जनता के लिए होती है न कि किसी विशेष के लिए।

यह भी पढ़े…Dhanbad news:नीरज तिवारी हत्याकांड के आरोपियों को कांग्रेस नेता जलेश्वर महतो का संरक्षण:बाघमारा प्रखंड बीजेपी अध्यक्ष बच्चू राय

सदन किसी भी धर्म अथवा सम्प्रदाय से ऊपर होती है। झारखण्ड में शैव, वैष्णव, सरना, सिख, जैन, बौद्ध, मुस्लिम, ईसाई सहित कई धर्मघराओं तथा भाषा-भाषी के लोग रहते हैं लेकिन सभी धर्मघाराओं एवं भाषा-भाषी के जनता को नकारते हुए सिर्फ विशेष समुदाय को प्रश्नेय देना तुष्टीकरण की पराकाष्ठा को पार करना है। झारखण्ड सरकार “फूट डालो, शासन करो” की नीति अपनाकर समाज के बीच द्वेष फैल रहा है। अल्पदर्शी एवं अल्पविवेकी झारखण्ड सरकार के उक्त गलत निर्णय के कारण जन-आन्दोलन प्रारम्भ है, जिससे प्रदेश के विकास कार्य में अक्रोध हो रही है, जिसका प्रभाव प्रदेश की जनता पर पड़ेगा।

साथ ही उन्होंने राज्यपाल से मांग करते हुए कहा कि लोकतंत्र के मंदिर “विधान सभा भवन” की महत्ता एवं गरिमा तथा सामाजिक सदभावना को बनाये रखने के लिए झारखण्ड विधान सभा भवन में विशेष समुदाय को दिये गये नमाज-कक्ष आवंटन को निरस्त करने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.