• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Dhanbad news:कुख्यात अपराधी आनंद वर्द्धन उर्फ मिंटू कश्यप की माैत,विनोद झा हत्याकांड में न्यायिक हिरासत में था…

1 min read

Dhanbad news:कुख्यात अपराधी आनंद वर्द्धन उर्फ मिंटू कश्यप की माैत,विनोद झा हत्याकांड में न्यायिक हिरासत में था…

>>चिरकुंडा के कुख्यात अपराधी मिंटू कश्यप की जेल में हुई मौत यूपी-बिहार के अपराधियों के नेटवर्क से जुड़ा था तार

 

NEWSTODAYJ_धनबाद: चिरकुंडा थाना क्षेत्र का कुख्यात अपराधी आनंद वर्द्धन उर्फ मिंटू कश्यप की माैत रविवार सुबह धनबाद जेल के अंदर हो गई. 28 जून, 2021 को धनबाद पोस्ट ऑफिस के पास से उसे गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद वह विनोद झा हत्याकांड में न्यायिक हिरासत में जेल के अंदर था.सुबह मिंटू ने सांस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द की शिकायत की. इसके बाद उसे शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल धनबाद में ले जाया गया.जहा चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.जेल अधीक्षक अजय कुमार ने बताया कि मिंटू कश्यप की तबीयत अचानक खराब हो गई. अस्पताल के चिकित्सक प्रारंभिक जांच के बाद उसे एसएनएमसीएच रेफर कर दिया. आशंका है कि हार्ट अटैक से उसकी मौत हुई.

यह भी पढ़ें…CRIME NEWS:फर्जी पुलिस बन कर पैसे वसूल रहे दो युवकों को धर दबोचा,फर्जी आई कार्ड ,पिस्टल एवम बुलेट बरामद

अपराध की दुनिया मे कमाना चाहता था नाम

विनोद झा हत्याकांड का मास्टर माइंड मुख्य साजिशकर्ता मिंटू कश्यप ही था.पहले तो चिरकुंडा में वह छोटी-छोटी घटनाओं में शामिल रहा और छोटे अपराधी के ताैर पर उसकी चर्चा होती रही. मारपीट से जुड़े कुछ मामला थाना तक भी पहुंचा पर अधिकांश मामले में उसके दंबग प्रभाव के कारण समझौता हो गया.पश्चिम बंगाल के नितुरिया में पहली बार वह आर्म्स एक्ट के मामले में जेल गया था. जेल में रहते हुए वह यूपी और बिहार के कुछ अपराधियों से नेटवर्क जुड़ा. इसके बाद चिरकुंडा क्षेत्र के कई व्यवसायियों के अपहरण की योजना बनाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.