Cyber crime : साइबर क्राइम की सबसे बड़ी वारदात , 77 लाख की साइबर ठगी सूटिंग्स प्राइवेट लिमिटेड के मालिक के साथ…

Cyber crime : साइबर क्राइम की सबसे बड़ी वारदात , 77 लाख की साइबर ठगी सूटिंग्स प्राइवेट लिमिटेड के मालिक के साथ…

NEWSTODAYJ नई दिल्ली : प्रतापनगर थाना क्षेत्र में लालानी सूटिंग्स प्राइवेट लिमिटेड के मालिक हरकचंद लालानी के साथ हुई 77 लाख की साइबर ठगी के मामले में अपराधियों के तार तेलांगना, मुम्बई, दिल्ली व केरल से जुड़े हुए है। शातिर अपराधियों ने बैंक खातों को ऑन लाइन हैक करने की भी कोशिश की है। जिले की अभी तक की यह साइबर क्राइम की सबसे बड़ी वारदात है। पुलिस की विशेष टीमें सीसी कैमरे में आए संदिग्धों को तलाश रही है। दूसरी तरफ पीडि़त व्यवसायी के पक्ष में विभिन्न टेक्सटाइल संगठनों व मेवाड़ चेम्बर ने भी आवाज उठाई है।

यह भी पढ़े…Assembly elections : झारखंड की गलती से बीजेपी ने लिया सबक, इस वजह से त्रिवेन्द्र सिंह रावत को हटाया…

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

कपड़ा कारोबारी लालानी ने 77 लाख रुपए की साइबर ठगी की रिपोर्ट 18 फ रवरी 21 को प्रतापनगर थाने में दर्ज करवाई थी। हरकचन्द के भतीजे पंकज लालानी ने बताया कि बैंक अकाउंट से साइबर ठगों ने 16 फ रवरी की रात को महज कुछ घंटे में नेट बैंकिंग के जरिए कई बार ट्रांजिक्शन कर 82 लाख रुपए निकाल लिए थे। इस दौरान उनके मोबाइल पर कोई ओटीपी नहीं आया। 17 की सुबह उन्हें अपने साथ हुई ठगी का पता चला तो उन्होंने अपने बैंक को सूचना देकर खाते फ्रीज करवाए। इस दौरान 5 लाख रुपए उनके खाते में वापिस आ गए।पंकज लालानी के अनुसार इस मामले में चार बार बैंक ऑफ बडौदा को पत्र लिख चुके है। मेवाड़ चैम्बर ऑफ कामर्स, भीलवाड़ा टेक्सटाइल ट्रेड फेडरेशन तथा सिन्थेटिक्स विविंग मिल्स एसोसिएशन ने भी इस मामले के खुलासे के लिए पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा को पत्र दिया है। इस मामले को स्वयं पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा व प्रतापनगर थाना प्रभारी भजनलाल देख रहे है।पुलिस संदिग्धों को तलाश रही।

यह भी पढ़े…Bus Accident : हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई , हादसा बुधवार को हुआ है. पुलिस ने आ‌ठ शव बरामद…

पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने बताया कि इस मामले के खुलासे के लिए प्रतापनगर थाना प्रभारी भजन लाल की टीम के साथ ही साइबर सेल की टीम भी काम कर रही है। भीलवाड़ा से पुलिस की टीमें विभिन्न हिस्सों में भेजी गई है। प्रांरभिक अनुसंधान में सामने आया कि साइबर ठगी के जरिए कुछ रुपए मुम्बई से निकाले है तो कुछ खाते दिल्ली के है। दिल्ली के तीन व मुम्बई का एक खाता है, जिनमे रुपए डाले गए हैं। बैंकों के एटीएम से यह राशि निकाली गई। पुलिस टीमों ने मुम्बई, दिल्ली व चेन्नई के कुछ एटीएम से संदिग्धों के फ ुटेज भी लिए है। राज्य की पुलिस के साथ ही दिल्ली व अन्य राज्यों की पुलिस की भी मदद ली जा रही है। समूची ठगी की वारदात में शातिर अपराधियों ने ऑन लाइन बैकिंग सिस्टम के साथ भी छेड़छाड़ की कोशिश की है। पुलिस को मामले के जल्द खुलासे की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here