• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Crime news:हज यात्रा के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, लबैक टूर एंड ट्रेवल्स के जरिए करते थे ठगी

1 min read

 

NEWSTODAYJ_रांची:हज यात्रा के नाम पर ठगी करने के मामले में रांची की ओरमांझी पुलिस ने रविवार को राजगंज थाना क्षेत्र के चुंगी इलाके से कबीर नामक एक युवक को उठाया. पुलिस के अनुसार, लबैक टूर एंड ट्रेवल्स के जरिये धनबाद का इरशाद आलम उर्फ नौशाद अभी तक रांची, जमशेदपुर, लोहरदगा, गिरिडीह व धनबाद में काफी संख्या में लोगों अपना शिकार बनाकर करोड़ों की ठगी कर चुका है. फिलहाल वह धनबाद में सक्रिय है.

यह भी पढ़े…Crime news:रणजीत सिंह को गोलियों से छलनी कर हत्या मामले में राम रहीम को उम्रकैद की सजा मिली

इस मामले में रांची के ओरमांझी थाना में दो प्राथमिकी दर्ज है. रविवार को नौशाद की गिरफ्तारी के लिए ओरमांझी पुलिस ने उसके धनबाद अवस्थित कई ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन वह पकड़ में नहीं आया. पुलिस राजगंज के चुंगी निवासी कबीर को अपने साथ ले गयी है. इसकी पुष्टि ओरमांझी इंस्पेक्टर राजीव कुमार सिंह ने की. हालांकि पूछताछ के बाद रात में उसे छोड़ दिया गया. बताया जाता है कि कबीर किसी मोबाइल दुकान पर कार्य करता है. नौशाद ने उसके मोबाइल से कहीं कॉल किया था. इसीलिए वह पुलिस के रडार पर है.

ठग के सहयोगी भी पुलिस की रडार पर

 

इरशाद आलम के साथ उसे ठगी में सहयोग करने वाले कई अन्य लोग भी पुलिस की रडार में हैं। ठगी के लिए अलग-अलग दो नाम इरशाद आलम व नौशाद आलम का इस्‍तेमाल करता है। वहीं अपने पिता का भी दो नाम सईद आजाद अहमद व फलजे इमाम बताता है। ठगी करने में व कार बेचने में अलग-अलग लोगों द्वारा मदद किया गया है। कार बेचने के दौरान चिकित्सक को अपने भाई सादीक मोहमद दुर्रानी का कार बताया। कार को 1.80 लाख में बेचा और 28 माह तक का ईएमआइ 16555 रुपया प्रति माह अपने खाते में डालने के लिए कहा था। वहीं कतरास के जुबेर अंसारी को मोहमद दुर्रानी बनाकर बिक्री कागजात में फर्जी हस्‍ताक्षर भी करा दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें