COVID-19 hotspot : कोरोना के खतरों के बीच दिल्‍ली में एक बार फिर से लॉकडाउन लग सकता – मुख्यमंत्री…

0
न्यूज़ सुने

COVID-19 hotspot : कोरोना के खतरों के बीच दिल्‍ली में एक बार फिर से लॉकडाउन लग सकता – मुख्यमंत्री…

NEWSTODAYJ (एजेंसी) नई दिल्‍ली : राष्‍ट्रीय राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों ने राज्‍य सरकार को परेशान कर दिया है। ऐसे में बढ़ते कोरोना के खतरों के बीच दिल्‍ली में एक बार फिर से लॉकडाउन लग सकता है। इसकी घोषणा खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की है। केजरीवाल ने कहा है कि जरूरत पड़ने पर बाजारों में फिर से लॉकडाउन लगाया जा सकता है।केजरीवाल ने कहा है कि इसके लिए एक प्रस्ताव एलजी को भेजा है,

यह भी पढ़े…Jharkhand News : मुख्यमंत्री आवास में आदिवासी सोशियो एजुकेशनल एंड कल्चरल एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की…

क्योंकि बिना केंद्र की अनुमति के कहीं भी लॉकडाउन नहीं लगाया जा सकता है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “चूंकि मामले दिल्ली में बढ़ रहे हैं, इसलिए हम केंद्र सरकार को एक सामान्य प्रस्ताव भेज रहे हैं, ताकि आवश्यकता पड़ने पर दिल्ली सरकार उन बाजारों को कुछ दिनों के लिए बंद कर सके, जहां मानदंडों का पालन नहीं किया जा रहा है और वह COVID-19 हॉटस्पॉट बन रहे हैं।”केजरीवाल ने एक ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग में कहा, ”राज्य सार्वजनिक सभाओं के लिए अनुमति लोगों की संख्या को 50 तक कम करने पर भी विचार कर रहा है।”

यह भी पढ़े…One year of Corona : दुनियाभर में तबाही मचाने वाले कोरोना के एक साल पूरे, आज ही के दिन चीन के वुहान शहर में मिला था पहला केस…

उन्‍होंने कहा, “केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली ने शादियों में 200 लोगों को अनुमति दी थी। लेकिन अब हमने 50 लोगों की पहले की सीमा पर वापस जाने का फैसला किया है। मैंने मंजूरी के लिए उपराज्यपाल को एक प्रस्ताव भेजा है। मुझे उम्मीद है, वह जल्द ही अनुमति देंगे।”अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिवाली पर खरीददारी करते समय कई लोग मास्क नहीं पहन रहे थे और सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी पालन नहीं कर रहे थे। उन्‍होंने कहा, “लोगों को लगता है कि यह (COVID-19) उनके साथ नहीं होगा। मैं आपसे हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि कोरोना वायरस बीमारी किसी को भी हो सकती है और यह आपको संक्रमित करने के बाद घातक हो सकती है।

यह भी पढ़े…Coronavirus : झारखंड राज्य में कोविड-19 के 166 नए मामले, चार और संक्रमितों की मौत…

कृपया सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करें।”राष्ट्रीय राजधानी में कोविड मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। संक्रमण की तीसरी लहर अक्टूबर के अंत में शुरू हुई और तब से प्रत्येक सप्ताह रिकॉर्ड संख्या के साथ मरीजों का मिलना जारी है। 3 नवंबर को शहर में 6,725 मामले दर्ज किए थे, तीन दिन बाद इसने 7,000 का आंकड़ा पार किया। 11 नवंबर को, शहर ने 8,593 नए मामले दर्ज किए, जोकि कोरोना मरीजों की सबसे ज्‍यादा संख्‍या थी। हालांकि पिछले दो दिनों में दिल्ली में 3,500 मामले दर्ज किए गए, लेकिन यह सामान्य से आधे से भी कम 30,000 परीक्षण के बाद सामने आए।अस्पताल में गंभीर लक्षणों वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि देखी गई है। पराली के जलने, दिवाली और तापमान में बदलाव के कारण हवा की गुणवत्ता में भी गिरावट आई। यह चिंता का विषय बन गया जब कई निजी अस्पतालों ने आईसीयू में शून्य बेड उपलब्धता की सूचना दी, जिससे दिल्ली सरकार कोविड रोगियों के लिए 80 प्रतिशत बेड के लिए उच्च न्यायालय में चली गई।केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली सरकार, केंद्र और सभी एजेंसियां दिल्ली में COVID-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए प्रयास कर रही हैं। मैं इस कठिन समय में दिल्ली की मदद करने के लिए केंद्र को धन्यवाद देना चाहता हूं।

यह भी पढ़े…Jharkhand News : जर्जर भवन में चल रहा है पशु चिकित्सालय , जान हथेली पर लेकर ड्यूटी करते हैं चिकित्सक…

मैं विशेष रूप से 750 आईसीयू बेड प्रदान करने के लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहता हूं।”केंद्र सरकार की एक रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में सर्दियों में एक दिन में औसतन 15,000 मामले देखने को मिलते हैं।दिल्ली में कुल मामलों की संख्या अब 4.89 लाख से अधिक है। इसमें से 7,600 से ज्यादा लोगों की वायरस से मौत हो चुकी हैं। सक्रिय कैसलोएड ने 40,000 को पार कर लिया है, जोकि अगस्त में 10,000 से नीचे था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here