• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

CCA पर ममता बनर्जी का हल्ला बोल कहा-जब तक मैं जिंदा हूं बंगाल में CCA लागू नहीं होगा

1 min read

CAA पर ममता बनर्जी का हल्ला बोल कहा-जब तक मैं जिंदा हूं बंगाल में CAA लागू नहीं होगा

NEWS TODAY पश्चिम बंगाल ::  जब तक मैं जिंदा हूं, तब तक बंगाल में संशोधित नागरिकता कानून लागू नहीं होगाl उक्त बाते पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहाl उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि कोई भी देशवासियों से नागरिकता जैसे उनके अधिकार नहीं छीन सकताl बनर्जी ने कहा, “जब तक मैं जीवित हूं तब तक बंगाल में सीएए लागू नहीं होगाl कोई भी देश या राज्य छोड़कर नहीं जाएगाl बंगाल में कोई निरोध केन्द्र नहीं बनेगाlममता ने विवादित सीएए के खिलाफ देशभर में चल रहे छात्रों के आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि यह कैसे हो सकता है कि वे 18 साल की उम्र में सरकार चुनने के लिए मतदान तो करें, लेकिन उन्हें विरोध करने का अधिकार न दिया जाएl उन्होंने कहा, “छात्र काले कानून का विरोध क्यों नहीं कर सकते? केन्द्र सरकार प्रदर्शकारी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है और उन्हें विश्वविद्यालयों से निष्कासित कर रही हैl

वहीं ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ ने देशवासियों को एकजुट रहने के लिए प्रेरित किया हैl ममता ने नोबेल पुरस्कार से सम्मानित रवींद्रनाथ टैगोर को याद किया जिन्होंने ‘जन गण मन’ की रचना कीl 1911 में आज के दिन पहली बार इसे गाया गया थाl ममता ने टैगोर की रचना ‘आमार सोनार बांग्ला’ का भी जिक्र किया जिसे 1905 में अंग्रेजों द्वारा बंगाल के विभाजन के विरोध में लिखा गया थाl उन्होंने कहा कि बंगाल के विभाजन के खिलाफ टैगोर के विरोध के तरीके ने लोगों को रास्ता दिखायाl

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.