Bollywood: अक्षय कुमार की फिल्म पृथ्वीराज घिरी विवाद में, प्रदर्शन करते हुए फूंका गया पुतला….

0

Bollywood: अक्षय कुमार की फिल्म पृथ्वीराज घिरी विवाद में, प्रदर्शन करते हुए फूंका गया पुतला….

 

NEWSTODAYJ_बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार (Akshay kumar) की फिल्म ‘पृथ्वीराज’ विवादों में घिरती नजर आ रही है। अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा विंग ने श्री चंद्रप्रकाश द्विवेदी द्वारा निर्देशित, यश राज निर्मित, अक्षय कुमार की फिल्म ‘पृथ्वीराज’ के निर्माताओं को प्रेस के माध्यम से 13 जून 2021 को एक खुला पत्र लिखकर फिल्म के नाम व फ़िल्म से जुड़े कुछ अन्य विवादित मुद्दों पर अपना वक्तव्य ज़ाहिर किया था।परंतु अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा विंग के द्वारा उठाई गई आपत्तियों को फ़िल्म से जुड़े निर्माता, निर्देशक, ऐक्टर सब ने नज़रअंदाज़ कर दिया

Capture 2021-07-28 22.36.12
Capture 2021-08-17 12.13.14 (1)
Capture 2021-08-06 12.06.41
Capture 2021-08-19 12.34.03
Capture 2021-07-29 11.29.19
Capture 2021-08-17 14.20.15 (1)
Capture 2021-08-10 13.15.36
Capture 2021-08-05 11.23.53
Capture 2021-09-09 09.03.26
Capture 2021-09-16 12.44.06

यह भी पढ़ें….Bollywood: करीना कपूर की बड़ी मुश्किल, फिल्म में सीता के रोल पर बड़ा विवाद

 

ऐसे में अपनी ओर से कदम उठाते हुए अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ( Kshatriya Mahasabha Protests )युवा विंग के कार्यकारी अध्यक्ष श्री शांतनु चौहन व राष्ट्रीय मंत्री अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा विंग परीक्षित राणा के नेतृत्व में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा विंग ने चंडीगढ़ के सेक्टर 45 में प्रदर्शन किय

 

प्रदर्शन के दौरान एक्टर अक्षय कुमार और चंद्रप्रकाश द्विवेदी का पुतला भी जला गया और जम के नारेबाज़ी की गई अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा विंग कार्यकारी अध्यक्ष श्री शांतनु चौहान ने कहा, “यश राज फ़िल्म, श्री चंद्रप्रकाश द्विवेदी व श्री अक्षय कुमार द्वारा हिंदू सम्राट पृथ्वीराज चौहान जी का अपमान स्वीकार नहीं किया जाएगा। आज चंडीगढ़ से देश व्यापी आंदोलन का बिगुल अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा विंग ने बजा दिया है।ये आंदोलन देशभर में, हर प्रदेश में तब तक जारी रहेगा जब तक हमारी 4 मांग पूरी नहीं की जायेंगी-

 

1. फिल्म का शीर्षक तुरंत बदला जाए।

 

2. क्षत्रिय समाज के वरिष्ठ प्रतिनिधियों को फ़िल्म रिलीज से पहले स्क्रिप्ट पढ़ाई जाए और फिल्म की स्क्रीनिंग भी की जाए।

 

3. आपत्तिजनक और विकृत तथ्यों को रिलीज से पहले हटा दिया जाए।

 

4. क्षत्रिय समाज की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए फिल्म निर्माताओं को क्षत्रिय समुदाय से माफी मांगनी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here