• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

Banking:Sbi ने बदले बैंक खाते और एटीएम से पैसे निकालने के नियम ,जानिए क्या है नियम….

1 min read

Banking:Sbi ने बदले बैंक खाते और एटीएम से पैसे निकालने के नियम ,जानिए क्या है नियम….

 

NEWSTODAYJ_banking_देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने खाते और एटीएम से पैसे निकालने के नियम को बदल दिया है. ये नए नियम 1 जुलाई 2021 से लागू होंगे. इन नियमों के बारे में जान लेना जरूरी है क्योंकि इससे कस्टमर को बाद में कोई दिक्कत नहीं आएगी. एसबीआई ने कहा है कि गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए बैंक की शाखा, चैनल या एटीएम या सीडीएम की सेवा ली जा सकती है. बेसिक सेविंग डिपॉजिट (BSBD) खाते के लिए एसबीआई के या अन्य बैंक के एटीएम से पैसे निकासी मुफ्त है.

 

SBI ने कहा है कि अपने ब्रांच या एटीएम से नकदी निकालने के नियमों में बदलाव किया गया है जो 1 जुलाई से प्रभावी होगा. बैंक की तरफ से चेक बुक चार्ज, मनी ट्रांसफर और गैर-वित्तीय ट्रांजेक्शन में बदलाव किया गया है. ये नियम बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट या BSBD पर लागू होंगे. बीएसबीडी खाते वो होते हैं जो बैंक के हर ब्रांच में चलाए जाते हैं और इसमें न्यूनतम और मैक्सिमम बैलेंस की कोई सीमा नहीं होती. यानी कि इस खाते में हर महीने एक न्यूनतम राशि बनाए रखने की बाध्यता नहीं होती. बीएसबीडी अकाउंट धारकों को बेसिक रूपे एटीएम सह डेबिट कार्ड दिए जाते हैं.

 

 

क्या है नया नियम

नए नियम के मुताबिक, अगर आप गैर-वित्तीय ट्रांजेक्शन करते हैं तो इसके लिए कोई शुल्क देने की जरूरत नहीं होगी. अगर महीने में नकद निकासी की 4 बार सुविधाएं ले चुके हैं तो उसके अगली बार बैंक ब्रांच या एटीएम से पैसे निकालने के लिए 15 रुपये और जीएसटी चुकाने होंगे. इतना चार्ज आपको चार के बाद हर निकासी पर देना होगा. नए नियम में कहा गया है कि एसबीआई की तरफ से एक वित्तीय वर्ष में प्रति ग्राहक को मुफ्त में 10 पन्ने का चेकबुक दिया जाएगा. यह सुविधा भी बेसिक खाताधारकों के लिए लागू होगी.

यह भी पढ़ें…Business: पेट्रोल डीजल की कीमतों में आया उछाल जानिए क्या है आपके शहर में कीमत

10 पन्ने का चेकबुक खत्म होने के बाद अगर ग्राहक को अलग से लेना है तो 40 रुपये प्लस जीएसटी चुकाकर 25 पन्ने का चेकबुक ले सकते हैं. यह खर्च लगभग 75 रुपये के आसपास आएगा. अगर किसी कस्टमर को इमरजेंसी चेकबुक चाहिए तो उसे जीएसटी के अलावा 50 रुपये चुकाने होंगे. हालांकि सीनियर सिटीजन के लिए चेक लेने में अतिरिक्त पैसे देने से छूट है.

 

क्या होता है बेसिक सेविंग अकाउंट

एसबीआई के बीएसबीडी अकाउंट को जीरो बैलेंस अकाउंट भी कहते हैं. इस अकाउंट में मिनिम बैलेंस न भी रहे, या खाता खाली रहने पर भी जुर्माना नहीं लगता. यह खाता समाज के गरीब वर्ग या खासकर उन लोगों के लिए शुरू किया गया है जो बैंकिंग सेवाओं से वंचित हैं. लोगों को बैंक खाता खोलने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए बीएसबीडी अकाउंट शुरू किया गया है. इसमें काफी कम बजट के साथ भी सेविंग कर सकते हैं.

 

बिना किसी शुल्क चुकाए नकद निकासी का फायदा ले सकते हैं. इस पर उतना ही ब्याज मिलता है जितना रेगुलर अकाउंट पर मिलता है. अगर यह खाता पहले से निष्क्रिय है तो उसे शुरू करने के लिए अलग से कोई शुल्क नहीं लिया जाता. खाता बंद भी कराना हो तो इसका कोई शुल्क नहीं लगता

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें