• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

A SCAM : 29 स्‍कूलों की माध्‍यह्न भोजन योजना के बैंक खातों में पाई गई गड़बड़ी, जांच के निर्देश…

1 min read
A SCAM : 29 स्‍कूलों की माध्‍यह्न भोजन योजना के बैंक खातों में पाई गई गड़बड़ी, जांच के निर्देश…
  • झारखंड राज्य मध्याह्न भोजन प्राधिकरण द्वारा संचालित मध्याह्न भोजन योजना के बैंक खातों का शत-प्रतिशत लेखा अंकेक्षण (वित्तीय वर्ष 2015-16, 2016-17 एवं 2017-18) कराया गया।
  • इस संबंध में निदेशक ने 16 जुलाई को रांची के उपायुक्‍त सह जिला शिक्षा अधीक्षक को पत्र लिखा है।

NEWSTODAYJ : रांची । स्‍कूलों की माध्‍यह्न भोजना योजना के बैंक खातों में प्रथम दृष्‍टया गड़बड़ी पाई गई है। इसके बाद झारखंड राज्‍य मध्‍याह्न भोजन प्राधिकरण के निदेशक आदित्‍य कुमार आनंद ने लेखा विशेषज्ञ को शामिल करते हुए इसकी विस्‍तृत जांच कराने का निर्देश दिया है। इस संबंध में निदेशक ने 16 जुलाई को रांची के उपायुक्‍त सह जिला शिक्षा अधीक्षक को पत्र लिखा है.निदेशक ने लिखा है कि झारखंड राज्य मध्याह्न भोजन प्राधिकरण द्वारा संचालित मध्याह्न भोजन योजना के बैंक खातों का शत-प्रतिशत लेखा अंकेक्षण (वित्तीय वर्ष 2015-16, 2016-17 एवं 2017-18) कराया गया है।

यह भी पढ़े…CRIME : SSP के आदेश पर आठ साइबर अपराधियों को छापेमारी कर किया गया गिरफ्तार अपराध के संबंध में कई सामग्री भी बरामद…

अंकेक्षण प्रतिवेदन की समीक्षा में कई विद्यालयों में लेखा संबंधी विभिन्न अनियमितता प्रयम दृष्टया दिख रही है। रांची जिला के ऐसे विद्यालयों की आय-व्यय की विस्तृत समीक्षा/जांच अपेक्षित है। यह जांच प्रत्येक प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी-सह-अध्यक्ष, प्रखंड स्तरीय अनुश्रयण समिति की अध्यक्षता में प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी एवं अन्य लेखा विशेषज्ञ को सम्मिलित करते हुए जांच दल गठित कर कराया जा सकता है.जांच में इन बिंदुओं पर विशेष ध्‍यान देने का निर्देश कम से कम विगत 5-7 वर्षों के आय-व्यय की जांच गठित टीम द्वारा की जाए.गठित टीम राशि के आय-व्यय का मिलान रोकड़ पंजी एवं बैंक खाता से अवश्य करे.

यह भी पढ़े…PRESS CONFERENCE : कोविड-19 की चुनौती को देखकर जिला प्रशासन ने अगले छह माह की बनाई रणनीति…

विद्यालयों के बैंक खाता से राशि का हस्तांतरण किसी अन्य बैंक खाता में हुआ हो तो उसकी समीक्षा अवश्य की जाए.नकद राशि की निकासी की प्रवृत्ति (यथा-कुल नकद राशि की निकासी, समय अंतराल, औसत छत्र आच्छादन के आधार पर आवश्यकता इत्यादि) की समीक्षा विशेष रूप से की जाए.आवश्यकता से अधिक नकद राशि की निकासी और अवशेष नकद राशि की भी समीक्षा की जाए।नामांकन के अनुसार जिला स्तर से विद्यालयों की राशि का आवंटन हुआ है या नहीं।

ये हैं विद्यालयों के नाम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें