• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

69 गणतंत्र दिवस पुरे देश के साथ धनबाद में भी धूम धाम से मनाया जा रहा है।

1 min read

न्यूज टुडे

नीरज सिन्हा।


69 गणतंत्र दिवस के वषगांठ पर पुरे देश के साथ धनबाद में भी धून धाम से मनाया जा रहा है वही आज धनबाद के गोल्फ ग्राउंड में धनबाद के उपायुक्त ए डोड्डे ने झण्डा फराया और धनबाद वासियो को गणतंत्र दिवस की बधाई दी साथ ही धनबाद के उपायुक्त और एसएसपी मनोज रतन चौथे ने गणतंत्र दिवस के परेड की शालामी दी वही धनबाद नगर निगम के तरफ से बनाए गए स्वछता पर झांकी और साथ ही एक से बढ़ाकर एक झांकी देख  गोल्फ ग्राउंड में बैठे दर्शको को मान को मोह लिया वही आदिवासी महिला आदिवासी नाच दिखाया वहां बैठे लोगो तालिया बजा का तारीफ की वही गोल्फ ग्राउंड कई स्कूलों के हजारो बच्चे ने भी इस 69  गणतंत्र दिवस पर कई कलाकृतिया दिखाई

वही धनबाद के उपायुक्त ने दर्शको को सम्बोधित करते हुए कहा जिले में गरीबो के लिए कई योजना चल रही है जो गरीबो तक पहुंच भी रही है साथ ही उपायुक्त ने कहा महिलाये के सशक्त बनाने के कई योजाना सरकार चला रही है जिसका लाभ महिलाओं तक पहुंच भी रहा है साथ उपायुक्त ने कहा धनबाद पानी की किल्ल्त को लेकर पानी की किल्लत न हो जिसको लेकर धर्माबांध और शहरी जलपूर्ति योजाना पर तेजी से काम  जल्द पूरा हो जायेगा।

पहले गणतंत्र दिवस पर प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के भाषण

26 जनवरी 1950 को जब संविधान लागू हुआ तो देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने रेडियो के जरिये दुनिया को संबोधित किया था। पंडित नेहरू के भाषण में देश ही नहीं, दुनिया को, खासकर पश्चिमी देशों को एक संदेश था।

देश को आजादी 15 अगस्त 1947 को मिली, लेकिन आजाद भारत के लिए एक पुख्ता संविधान की जरूरत थी ताकि देशवासियों के मूल अधिकार, शासन प्रणाली और न्याय व्यवस्था सुचारू रूप से चल सकें और लोकतंत्र को मजबूती मिले। 26 जनवरी 1950 को जब संविधान लागू हुआ तो देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने रेडियो के जरिये दुनिया को संबोधित किया था। पंडित नेहरू के भाषण में देश ही नहीं, दुनिया को, खासकर पश्चिमी देशों को एक संदेश था। पहले गणतंत्र दिवस पंडित नेहरू का वह भाषण बहुत ही दुर्लभ है। आजादी की रात वाला उनका भाषण तो लगभग सभी ने सुना है, लेकिन गणतंत्र दिवस पर उनका भाषण कम ही लोगों ने सुना है।

रेडियो पर अंग्रेजी में दिए उनके इस भाषण में खास तौर पर दुनिया के सभी देशों से चैन और अमन की अपील की गई थी। उन्होंने अपने भाषण मे कहा था युद्ध और शांति की मुहिम एक साथ चलने से पनपे असंतुलन को सुधारना होगा, पूरी दुनिया शांति चाहती है, जिसे देशों को समझना होगा। उन्होंने कहा था कि पश्चिमी देशों के उनके दौरे से यह साफ है कि दुनिया को अब शांति चाहिए।गणतंत्र दिवस पर भाषणों में आज भी हम भारत की शांतिप्रियता और विकास की पैरोकारी की ही बात करते हैं। शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा पाकिस्‍तान बना हुआ है। चीन भी भारत को परेशान करता रहा है। इसलिए आज भी शांति के महत्‍व को समझना उतना ही जरूरी है, जितना पहले गणतंत्र दिवस के वक्‍त पर था।

कुछ ऐसा था पहले गणतंत्र दिवस का नजारा: पहला गणतंत्र दिवस दिल्ली के इरविन एम्पीथियेटर में मनाया गया था। इस जगह को अब मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम कहते हैं। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकानो गणतंत्र दिवस पर बतौर मुख्य अतिथि बुलाए गए थे। पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने जैसे ही तिरंगा फहराया था, तिरंग के फहराते ही दनादन 21 तोपों सलामी से राजधानी गूंज उठी थी।

बता दें कि इस बार (2018) भारत का 69वां गणतंत्र दिवस है। इस बार यह मौका इसलिए भी खास है क्यों कि पहली बार 10 देशों के नेता बतौर मुख्य अतिथि इस समारोह मे बुलाए गए। इनमें ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और वियतनाम के राष्ट्राध्यक्ष शामिल है।

गणतंत्र दिवस के 10 मुख्य अतिथि: थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रायुत चान ओ चा, म्यांमार की नेता आंग सान सू की, ब्रुनेई के सुल्तान हसनअल बोल्किया, कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन, इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियन लूंग, मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक, वियतनाम के प्रधानमंत्री न्गुयेन शुयान फुक, लाओस के प्रधानमंत्री थॉन्गलौन सिसोलिथ और फिलीपींस के राष्ट्रपति ड्रिगो दुतेर्ते बतौर मुख्य अतिथि समारोह में शामिल हो रहे हैं।

गणतंत्र दिवस के अवसर पर धनबाद की कुछ झलकियां।

मेयर ने किया झंडोत्तोलन

भूली थाना में झंडोत्तोलन करते थाना प्रभारी

वासेपुर सिल्वर डब स्कूल में झंडोतोलन

न्यूज़ टुडे झारखंड आपके आसपास के खबरों से आपको रखे आगे आप हमें ईमेल भी कर सकते हैं&newstoday jharkhand@gmail.com watsaap 9386192053/

Leave a Reply

Your email address will not be published.