RECORD- भारतीय रेल के खाते में एक और कीर्तिमान-सोहना में तैयार विश्व की पहली ‘दोहरी लाइन’ की इलेक्ट्रिक रेल लाइन टनल

न्यूज़ सुने

RECORD- भारतीय रेल के खाते में एक और कीर्तिमान-सोहना में तैयार विश्व की पहली ‘दोहरी लाइन’ की इलेक्ट्रिक रेल लाइन टनल

  • इस टनल में डबल डेकर माल गाड़ियां 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ेंगी
  • ये टनल वेस्टर्न डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर का हिस्सा हैl

NEWSTODAYJ– भारत के साथ साथ भारतीय रेल के लिए गौरवान्वित क्षण हैl शुक्रवार को हरियाणा के सोहना के पास अरावली हिल्स के भीतर से होकर गुज़रने वाली 1 किलोमीटर लम्बी रेल टनल में एक आख़री विस्फोट किया गया जिसके साथ ही ये टनल दोनों ओर से खुल गईl ये टनल विश्व की पहली ऐसी टनल है जिसमें मालगाड़ियों के लिए दोहरी इलेक्ट्रिफ़ाइड रेल लाईन बिछाई जा रही हैl इस टनल में डबल डेकर माल गाड़ियां 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ेंगीl ये टनल वेस्टर्न डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर का हिस्सा हैl

ये भी पढ़े…

CORONA UPDATE- 376 मरीजों की पहचान के बाद झारखण्ड में कुल आंकड़ा 7626-धनबाद से मिले 26

अभी देश में माल गाड़ियां भी उन्हीं पटरियों पर चलाई जाती हैं जिन पर यात्री गाड़ियां चलती हैंl इससे रेल पटरियों के नेटवर्क पर लोड ज़्यादा पड़ता है, कंजेशन के कारण यात्री ट्रेनें लेट होती हैंl इसीलिए अब सिर्फ़ माल गाड़ियों के लिए अलग से डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर बनाया जा रहा हैl इसके लिए डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन की स्थापना की गई है जो भारतीय रेलवे का ही एक अभिन्न अंग हैl देश में दो डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर बन रहे हैं. दोनों को नोएडा के दादरी में लिंक किया जाएगाl एक का नाम है वेस्टर्न डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर जो नोएडा के दादरी से गुड़गांव और गुजरात होते हुए मुंबई तक जाएगाl दूसरे का नाम है ईस्टर्न डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर जो पंजाब के लुधियाना से दादरी होते हुए कोलकाता तक जाएगाl

ये भी पढ़े…

PROTEST : विश्वविद्यालय प्रबंधन अपना रही है तानाशाही रवैया, छात्रों के भविष्य खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं होगा – नृपेंन्द्र कुमार झा…

डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर बन जाने से यात्री रेल लाइनों की सभी माल गाड़ियां डेडिकेटेड फ़्रेट कॉरिडोर से चलने लगेंगी जिससे यात्री गाड़ियों के लिए क़रीब 50% पटरियां ख़ाली हो जाएंगीl इससे यात्री गाड़ियों की स्पीड को मौजूदा क़रीब 90 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड को 130-160 तक करना आसान हो जाएगा. इससे आने वाले समय में भारतीय रेल से वेटिंग लिस्ट का सिस्टम ख़त्म हो सकेगा और हर यात्री को टिकट लेते समय ही कन्फ़र्म टिकट मिल सकेगाl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here