THE DECISION-भारत का अफगान अल्पसंख्यकों के लिए बड़ा फैसला- 700 अफगान अल्पसंख्यकों को दीर्घकालिक वीजा देगा भारत

[URIS id=45547]
न्यूज़ सुने

THE DECISION-भारत का अफगान अल्पसंख्यकों के लिए बड़ा फैसला- 700 अफगान अल्पसंख्यकों को दीर्घकालिक वीजा देगा भारत

  • 700 अफगान अल्पसंख्यकों का अपने यहां स्वागत करने का भारत का बड़ा फैसला
  • लंबी अवधि के लिए वीजा और यात्रा की अनुमति अल्पसंख्यक समुदायों को देगा भारत

NEWSTODAYJ– भारत ने ‘पाक समर्थित’ आतंकी संगठनों द्वारा अल्पसंख्यक समुदायों पर हमलों में वृद्धि को देखते हुए 700 अफगान अल्पसंख्यकों का अपने यहां दीर्घकालिक वीजा देकर स्वागत करने का फैसला किया हैl 18 जुलाई को अफगानिस्तान में अफगान सिख निदान सिंह को सुरक्षित बचाए जाने के बाद भारत सरकार ने यह फैसला लियाl सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्रालय ने ‘लंबी अवधि के लिए भारत का वीजा जारी करने और उनको नई दिल्ली की यात्रा की सुविधा’ देने की मंजूरी दे दी हैl सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान समर्थित आतंकी समूहों द्वारा अल्पसंख्यकों पर किए गए कई आतंकी हमलों और उत्पीड़न के बाद भारत 700 से अधिक अफगान हिंदुओं और सिखों को अपने यहां पनाह देने जा रहा हैl

ये भी पढ़े- दिन में कई बार कोरोना टेस्ट होता है अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का

भारत में विदेश मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि एक हालिया फैसले में, भारत ने अफगानिस्तान में हिंदू और सिख समुदाय के सदस्यों की वापसी की सुविधा देने का फैसला किया था, जो अफगानिस्तान में लगातार खतरों का सामना कर रहे हैंl इनमें से कई अल्पसंख्यकों ने भारत आने को लेकर वीजा के लिए पहले ही आवेदन कर रखा है, उनमें से कई के परिवार भारत में हैंl

बता दें कि भारत सरकार का यह फैसला पिछले दिनों अफगान सिख निदान सिंह के अपहरण और एक महीने कैद में रहने के बाद अफगान सुरक्षा बलों द्वारा बचाए जाने के बाद लिया गया हैl उसकी रिहाई पर विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर उसके अपहरण के लिए ‘बाहरी समर्थकों’ को दोषी ठहराया थाl विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘आतंकवादियों द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को उनके ‘बाहरी समर्थकों’ के इशारे पर निशाना बनाया जाना गंभीर चिंता का विषय हैl अफगानिस्तान के हिंदू और सिख समुदाय के नेता निदान सिंह सचदेवा का 22 जून 2020 को पक्तिया प्रांत के चामकनी जिले से अपहरण कर लिया गया था, उन्हें 18 जुलाई को अफगान सुरक्षा बलों ने छुड़ायाl

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here