GUIDELINES – अब सात दिनों का इंस्टीट्यूशनल क्वॉरंटीन में रहना पड़ेगा इंटरनेशनल पैसेंजर को-दिल्ली एयरपोर्ट ने जारी की गाइडलाइंस

[URIS id=45547]
न्यूज़ सुने

अब सात दिनों का इंस्टीट्यूशनल क्वॉरंटीन में रहना पड़ेगा इंटरनेशनल पैसेंजर को-दिल्ली एयरपोर्ट ने जारी की गाइडलाइंस

  • दिल्ली-एनसीआर में रहने की योजना बनाने वाले यात्रियों को अनिवार्य स्वास्थ्य जांच से गुजरना होगा
  • भारत सरकार चार विशिष्ट श्रेणियों के लिए इंस्टीट्यूशनल क्वॉरंटीन से छूट दे सकती है

NEWSTODAYJ कोरोना महामारी के दौरान घरेलू या अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से यात्रा करने की योजना बनाने वाले यात्री जो दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरेंगे, उन्हें सात दिन इंस्टीट्यूशनल क्वॉरंटीन और बाद में सात दिन होम क्वॉरंटीन में रहना पड़ेगाl सरकार के अनुसार दिल्ली-एनसीआर में रहने की योजना बनाने वाले यात्रियों को अनिवार्य स्वास्थ्य जांच से गुजरना होगाl जिसमें एयरपोर्ट हेल्थ ऑफिशियल (एपीएचओ) द्वारा प्राइमरी स्क्रीनिंग हैl इसमें अत्यधिक सटीक, मास स्क्रीनिंग कैमरे की थर्मल माउंटेड स्क्रीनिंग शामिल हैl

ये भी पढ़े- RETIREMENT- वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी सेवानिवृत्ति रेलकर्मी की बिदाई-रेलवे बोर्ड द्वारा बोर्ड स्तर पर एक साथ रिटायरमेंट फंक्शन मनाया जाएगा

भारत सरकार चार विशिष्ट श्रेणियों के लिए इंस्टीट्यूशनल क्वॉरंटीन से छूट दे सकती है जिसमें गर्भवती महिला, परिवार में मृत्यु होने, गंभीर बीमारी से पीड़ित होने या 10 साल से कम उम्र के बच्चों के माता-पिता शामिल हैंl गाइडलाइंस के अनुसार, घरेलू उड़ानों से दिल्ली हवाई अड्डे पर पहुंचने वाले यात्रियों को अनिवार्य थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना होगाl केवल ऐसिम्प्टमैटिक पैसेंजर्स को हवाई अड्डे से बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी और सात दिनों तक होम क्वॉरंटीन में रहना होगाl

ये भी पढ़े- PROBLEM-बलियापुर के आमझर में कोरोना शवों के लिए बनाए जा रहे श्मशान के खिलाफ आन्दोलन तेज करने का निर्णय

ट्राजिट फ्लाइट वाले यात्री डोमस्टिक फ्लाइट ट्रांसफर एरिया या डिपार्चर चेक-इन में जा सकते हैंl  अगली फ्लाइट के लिए हवाई अड्डे पर फिर से प्रवेश करने से पहले उन्हें डिपार्चर गेट पर अनिवार्य टेम्परेचर चैकिंग से गुजरना होगाl सिम्प्टमैटिक पैसेंजर्स को संबंधित एयरलाइन अधिकारियों द्वारा टर्मिनल बिल्डिंग के पास स्थित कंटेनमेंट जोन भेजा जाएगा. बाद में सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार उन्हें कोविड-19 जांच के लिए अस्पताल या मेंडिकल सेंटर्स में भेजा जाएगाl अंतरराष्ट्रीय उड़ान से दिल्ली हवाई अड्डे पहुंचने वाले लोगों का दिल्ली सरकार के एक सेकेंडरी स्क्रीनिंग पोस्ट से गुजरना होगा, जिसके बाद ही एप्रूव्ड क्वारंटीन लोकेशन पर जाने की अनुमति होगीl

ये भी पढ़े-पुलिस सुरक्षा के बीच देर रात भी बलियापुर के आमझर में कोरोना वायरस से मरनेवाले शवों की अंत्येष्टि की गई

दिल्ली हवाई अड्डे पर अंतरराष्ट्रीय उड़ान से पहुंचने वाले यात्रियों को अपने खर्च पर 7 दिन तक संस्थागत क्वारंटीन में और अगले 7 दिन होम क्वारंटीन में रहना होगाl इस दौरान अगर किसी में लक्षण दिखते हैं तो उन्हें आइसोलेट किया जाएगा और संबंधित एयरलाइंस के अधिकारियों द्वारा एस्कॉर्ट करते हुए टर्मिनल बिल्डिंग के पास के कंटेनमेंट जोन में ले जाया जाएगा. उन्हें COVID-19 जांच या उपचार के लिए हॉस्पिटल या मेडिकल सेंटर भेजा जाएगाl आगे की उड़ानों वाले ट्रांजिट पैक्स डोमेस्टिक फ्लाइट ट्रांसफर एरिया से गुजर सकते हैं या डिपार्चर चेक-इन लेवल तक जा सकते हैंl हालांकि फिर से एंट्री करने के लिए उन्हें डिपार्चर एंट्री गेट पर अनिवार्य टेंपरेचर चेक से गुजरना होगाl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here