प्रवासी मजदूरों का शोषण शुरू, ठेकेदार ने कहा चावल खरीद कर खा लो…

0
[URIS id=45547]

NEWSTODAYJ : जामताड़ा जिले में लॉकडाउन के बाद विभिन्न कंपनियों के मालिक द्वारा प्रवासी मजदूरों का किया गया शोषण तो जग जाहिर है। परंतु अनलॉक के बाद पुन: काम पर लौटे प्रवासी मजदूरों का एक बार फिर शोषण प्रारंभ हो गया है। ताजा मामला जामताड़ा जिले के सोनाथार मौजा में निर्मित पुलिस लाइन निर्माण कार्य स्थल पर देखा जा रहा है। जहां एक दिन पूर्व अपने घर बांका जिले से काम पर लौटे 25 प्रवासी मजदूरों को ठेकेदार द्वारा खाने के लिए कोई सामान नही दिया गया । जिस कारण मजदूर भूखे रहने को विवश है। मजदूरों ने बताया कि उन लोगों के पास पैसा भी नहीं है कि खुद से सामान खरीद कर खा सकें।

यह भी पढ़े…

झारखंड कैबिनेट में भी अब कोरोना का कहर मंत्री व विधायक कोरोना पोजेटिव , कैबिनेट में हड़कंप…

सोनाथार मौजा में करोड़ों की लागत से जामताड़ा पुलिस लाइन का निर्माण किया जा रहा है। जिसमें बांका जिले के ही एक एजेंसी कार्य करवा रही है। और एजेंसी के द्वारा बांका जिले से 25 मजदूरों को काम कराने के लिए जामताड़ा लाया था । लेकिन मजदूरों को खाली हाथ वापस घर लौटना पड़ा। मजदूरों ने बताया कि 2 दिन से हम लोग खाना नहीं खाए हैं 2 दिन तक मजदूरों ने ठेकेदार का आने का इंतजार किया लेकिन वह नहीं आए तब फोन से मजदूरों ने अपनी पीड़ा

यह भी पढ़े…

नेहरू पार्क में मिला युवक का शव पूरे क्षेत्र में सनसनी…

ठेकेदार और मुंसी को सुनाया तो ठेकेदार ने कहा कि आधा किलो चावल खरीद कर खा लो। अभी हम बाहर हैं, आएंगे तो इंतजाम हो जाएगा। मजदूरों की माली हालत पहले से ही खराब थी, जिस कारण मजदूर भूखे ही पैदल घर वापस बांका लौटने को विवश हो कर चल दिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here