• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

सिंदरी, 50000 परिवारों के समक्ष विस्थापन की समस्या

1 min read

न्यूज टुडे

झारखंड बिहार



धनबाद।

सिंदरी, केंद्र सरकार और  एफ सी आई की गलत नीतियों के कारण सिंदरी में बसे लगभग 50000 परिवारों के समक्ष विस्थापन की समस्या आ खड़ी हुई है,


इन्हें विस्थापित तो कर दी जाएगी लेकिन पुनर्वास के लिए एफसीआई के पास कोई योजना नहीं है  ऐसे में सिंदरी के लोगों में आक्रोश है और यह आक्रोश  आंदोलन का स्वरूप लेगा इसी के तहत आगामी 16 अप्रैल को शाम में मशाल जुलूस और 18 अप्रैल को FCI गेट का घेराव कर विशाल रैली की जाएगी


यह बातें धनबाद के सिंदरी में झारखंड पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन  के अध्यक्ष अशोक सिंह ने झारखंड बचाओ संघर्ष समिति के द्वारा आहूत आपात बैठक में कहीं ।


आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने अर्ल को तासरा  प्रोजेक्ट के लिए 330 एकड़ जमीन आवंटित किया है इसके लिए बड़े पैमाने पर लोगों को विस्थापित किया जाएगा वैसे लोग जो रैयत हैं उन्हें तो मुआवजा मिल जाएगी और नियोजन भी  लेकिन जो लोग एफसीआई के क्वार्टरों  में रह रहे हैं


उनके लिए इनके पास कोई नीति/योजना नहीं है कि उन्हें किस तरह से पुनर्वासित किया जाएगा । ऐसे में लोगों का आशियाना उजड़ जायेगा आक्रोश सिंदरी ही नहीं बल्कि पूरे झारखंड को देखने को मिलेगा ।


उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा सरकार पहले पुनर्वास की व्यवस्था करें सभी लोगों को पुनर्वास की पहल करें वरना आंदोलन  और भी ज्यादा  उग्र होगा जिसमें सरकार बैकफुट पर दिखेगी।उन्होंने स्थानीय


जनप्रतिनिधियों खासकर धनबाद  सांसद पीएन सिंह को निशाने पर लेते हुए कहा कि सांसद में सिंदरी वासियों की समस्याओं पर ध्यान दिया होता तो मुझे इनके लिए संघर्ष करने की आवश्यकता ही नहीं होती  ।अगर उनका मानना है कि


चुनाव में  उन्हें पिछले चुनाव से अधिक वोट मिलता है, तीन बार विधायक रह चुके हैं, दूसरी बार धनबाद के सांसद हैं, उनकी जवाबदेही यहां के लोगों को पुनर्वासित करने की होनी चाहिए।विस्थापन का डंस झेल रहे लोगों के  जख्मों पर मरहम लगाने के लिए वे खुद यहां मौजूद होते हैं।


यह बयान उस वक्त आया है जब एक दिन पहले ही एक स्थानीय अखबार में सांसद का बयान छपा था जिसमें कहा गया था   जनता मुझसे खुश है यही वजह है कि वोट का मार्जिन हर चुनाव के बाद बढ़ता ही गया सांसद ने उक्त कार्यक्रम में तमाम विपक्षियों को भी निशाने पर लिया था ।


रखे आप को आप के आस पास के खबरों से आप को आगे,newstodayjharkhand.com watsaap9386192053

Leave a Reply

Your email address will not be published.