5 फीसदी निजीकरण ट्रेनों का संचालन इन रूटों पर होगा-मिलेगी कन्फर्म सीट-पढ़े पूरी खबर….

[URIS id=45547]

5 फीसदी निजीकरण ट्रेनों का संचालन इन रूटों पर होगा-मिलेगी कन्फर्म सीट-पढ़े पूरी खबर….

NEWSTODAYJ देश में प्राइवेट ट्रेनों को पटरी पर दौडाने के लिए सरकार ने कवायद तेज कर दी हैl खबर है कि अप्रैल 2020 तक देश में 44 प्राइवेट ट्रेनें दौड़ेंगीl भारतीय रेलवे ने 30,000 करोड़ रुपए के प्राइवेट ट्रेन प्रॉजेक्ट की शुरुआत 109 जोड़ी रूट्स पर रिक्वेस्ट फॉर क्वालिफिकेशंस (RFQs) को आमंत्रित करके की हैl रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने गुरुवार को कहा कि निजी ट्रेनों का आइडिया है कि वे सभी बड़े अधिक डिमांड वाले रूट्स पर सभी यात्रियों को कन्फर्म सीट उपलब्ध करा सकेंl भारतीय रेलवे जिन ट्रनों को पहले से चला रही है, उनके अलावा ये निजी ट्रेनें इस डिमांड को पूरा करने में मदद करेंगीl
सरकार ने 5 फीसदी ट्रेनों के निजीकरण का फैसला किया हैl यह PPP मॉडल के तहत होगाl  बाकी 95 फीसदी ट्रेनें रेलवे की तरफ से ही चलाई जाएंगीl  सभी प्राइवेट ट्रेन 12 क्लस्टर में चलाई जाएंगीl ये क्लस्टर- बेंगलुरू, चंडीगढ़, चेन्नई, जयपुर, दिल्ली, मुंबई, पटना, प्रयागराज, सिकंदराबाद, हावड़ा होंगेl
दिल्ली कलस्टर 1 में 7 जोड़ी ट्रेनें चलेंगी और प्रत्येक ट्रेन में 12 बोगी होंगेl  इसी तरह, दिल्ली कलस्टर 2 में 6 जोड़ी ट्रेन चलेगी और हरेक ट्रेन में 12 बोगी होंगेl चेन्नई कलस्टर में 12 जोड़ी ट्रेनें चलेंगी जबकि सबसे ज्यादा 13 जोड़ी ट्रेनें प्रयागराज कलस्टर से रवाना होगीl इन कलस्टर्स से चलने वाली ट्रेनें औसतन 1000 किमी दूरी तय करेगीl इन प्राइवेट ट्रेनों में से अधिकतर ट्रेनें कम से कम 16 कोच के साथ होंगी और इनका निर्माण भारत में किया जाएगाl ट्रेनों का लक्ष्य मुसाफिरों के लिए यात्रा के समय को कम करना होगाl ट्रेनों की क्षमता 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार को हासिल करने की होगीl  भारतीय रेलवे जिन ट्रनों को पहले से चला रही है, उनके अलावा ये निजी ट्रेनें इस डिमांड को पूरा करने में मदद करेंगीl

ये भी पढ़े…

बदमाशों ने बरसाईं ताबड़तोड़ गोलियां-दबिश देने गई 8 पुलिसकर्मी सहित CO की मौत

अलग-अलग रूट पर चलने वाली प्राइवेट ट्रेनों का किराया कितना होगा, इसको लेकर रेलवे बोर्ड की तरफ से कहा गया कि यह हवाई किराए के मुकाबले होगाl किराया एसी बस और हवाई किराया को ध्यान में रख कर तय किया जाएगाl  प्राइवेट ट्रेन किस तरह परफॉर्म कर रही हैं, उसके लिए एक स्पेशल मैकेनिज्म तैयार किया जाएगा और परफॉर्मेंस रिव्यू होगाl रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा कि सभी प्राइवेट ट्रेनों में ड्राइवर्स और गार्ड्स भारतीय रेलवे के होंगेl 95 फीसदी संचालन में प्रदर्शन के मानकों का पालन नहीं होता है तो उनपर जुर्माना लगाया जाएगाl प्राइवेट कंपनियों को फिक्स्ड हॉलेज चार्ज देना होगाl इसके साथ ही यादव ने कहा कि भागीदारी के साथ-साथ ट्रेनें भी निजी कंपनियों को ही लानी होंगी और उनकी देखभाल भी उन्हीं के जिम्मे होगीl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here