48 घंटे के बाद एनडीआरएफ की टीम ने शव को निकाला

0
45

(धनबाद)

48 घंटे के बाद एनडीआरएफ की टीम ने शव को निकाला…..!

भूली:-बंद आउटसोर्सिंग में डूबे हुए युवक को एनडीआरएफ की टीम ने 48 घंटे बाद शव को निकाला वही आपको बताते चलें कि सुबह से ही एनडीआरएफ की टीम शव को निकालने की कोशिश लगातार कर रही थी सातवीं बार एनडीआरएफ के गोताखोरों ने सफलता पाई।

और शव को पोखर से निकाल लाये वहीं एनडीआरएफ टीम के गोताखोर जवान ने मीडिया से बातचीत में बताया कि लगातार कड़ी मशक्कत के बाद शव को निकालने में सफलता हाथ लगी आमतौर पर ऐसा नहीं होता है मगर जिस तरह के यहां सिचुएशन था काफी क्रिटिकल था खदान होने के चलते काफी मुश्किल आई जहां भी अंदर जा रहे थे। वहां का पत्थर धस रहा था शव पत्थर में जा फंसी थी इसे जवानों को कुछ चोटें भी आई मगर हमने हिम्मत नहीं हारा और आखिरकार 3 घंटे की लगातार मेहनत से शव को निकालने में कामयाबी हासिल हुई वही आपको बताते चलें कि गोंदुडीह पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।इस नजारा को देखने के लिए भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे एनडीआरएफ की टीम द्वारा शव को जैसे ही निकाला गया वैसे ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ गई लोगों ने जवानों को खूब सराहा और भारत माता की जय और वंदे मातरम का उद्घोष किया

क्या था पूरा मामला ये भी पढ़े….!गौरतलब है कि 48 घंटे पहले मृतक अलमास सेख  अपने चार दोस्तों के साथ बंद आउटसोर्सिंग खदान में नहाने के लिए उतरे थे जिसमें से उनके 4 साथी तो बाहर निकल आए मगर अनुवाद फसा रहा जिसमें उसकी मृत्यु हो गई और तब से उसका शव पानी के अंदर में दबा रहा जिसके वजह से पूरे इलाके में मातम सा माहौल था पर आज 48 घंटे के बाद एनडीआरएफ की टीम ने शव को बाहर निकाला तब वहाँ के लोगो मे एक मुस्कान की झलक दिखी पर अब सब कुछ खत्म हो चुका एक माँ की गोद सुनी हो गईं।घर वालो का रो रो कर बुरा हाल है।NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here