• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

वाहन चेकिंग के नाम पर ये भाजपा सरकार जो काला कानून लाई है, ब्रिटिश शासन काल में भी ऐसा कानून नहीं था:चंदन राज यादव

1 min read

चतरा।

वाहन चेकिंग के नाम पर ये भाजपा सरकार जो काला कानून लाई है, ब्रिटिश शासन काल में भी ऐसा कानून नहीं था:चंदन राज यादव

चतरा। छात्र राजद जिलाध्यक्ष चंदन राज यादव ने केंद्र सरकार द्वारा मोटर व्हीकल एक्ट 2019 को लागू करने का मूल मकसद जनता को लूटना तथा भ्रष्टाचार को बढ़ावा देना बताया है। श्री यादव ने पूर्व बातों को याद करते हुए यह भी कहा है कि पूर्व में भी इस एक्ट का उल्लंघन करने वाले पर फाइन का प्रावधान था, परन्तु यातायात पुलिस द्वारा इसे इम्प्लीमेंट नही किया जाता था । दरअसल यातायात पुलिस द्वारा बिना हेलमेट पहने/बिना सीट बेल्ट लगाए वाहन मालिक से अथवा ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले से 200/-500/-अथवा 1000/- रुपये लेकर छोड़ दिया जाता था । अगर उसी वक्त गाड़ी का चालान काटने का प्रावधान सख्ती से लागू किया होता तो ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन होने का सवाल ही पैदा नही होता,वहीं अब फाइन में दस गुणा बढ़ोतरी करने के पीछे सरकार का मंशा साफ झलकता है ।एक तरफ देश मंदी की मार से जूझ रही है, काम धंधा सब ठप हो चुका है,दूसरी ओर सरकार जनता का जेब कतरने में लगी हुई है ।हमारा मानना है कि ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन न हो, इसके लिए वाहन बिक्री के समय ही वाहन मालिक से ड्राइविंग लाइसेंस जमा ली जाए,इन्शुरन्स व दो पहिया वाहन के लिए हेलमेट की अनिवार्यता वाहन बिक्री के समय ही लागू करना चाहिए तत्पश्चात सभी कागजात के अवलोकन के बाद ही वाहन का निबंधन करना चाहिए ।वहीं जगह-जगह दो पहिया/चार पहिया वाहन प्रशिक्षण केंद्र खुलवाना चाहिए, ताकि लोग अच्छी तरह से वाहन चलाने का प्रशिक्षण प्राप्त कर ट्रैफिक नियमों को बारीकी से समझ सकें ।वहीं सड़क दुर्घटना में कमी लाने के लिए सरकार को गुणवत्ता पूर्ण सड़कों का निर्माण कराना चाहिए,गड्ढा युक्त सड़कों का मरम्मत करना चाहिए तथा पुराने मोटर अधिनियम को लागू करना चाहिए ।साथ ही शिक्षा की अनिवार्यता को भी लागू करना चाहिए,क्योंकि लोग शिक्षित होंगे तभी ट्रैफिक नियमों को बारीकी से समझ सकेंगे साथ ही उक्त अधिनियम सब के लिए बराबर लागू होना चाहिए ।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें