3 जुलाई तक झारखंड हाइकोर्ट ने कोरोना से लड़ने और प्रवासी श्रमिकों की जाँच के इंतजाम पर हेमंत सरकार से मांगा जवाब

3 जुलाई तक झारखंड हाइकोर्ट ने कोरोना से लड़ने और प्रवासी श्रमिकों की जाँच के इंतजाम पर हेमंत सरकार से मांगा जवाब

NEWSTODAYJ रांची- कोरोना वायरस से जुड़ी एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए झारखंड हाइकोर्ट ने हेमंत सोरेन की सरकार को 3 जुलाई तक अपना जवाब दाखिल करने के लिए कहाl खंडपीठ ने सरकार से जानना चाहा कि देश के अलग-अलग कोने से आ रहे प्रवासी श्रमिकों की जांच और उनके इलाज के क्या इंतजाम किये गये हैंl

कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि जो लोग बाहर से आ रहे हैं, उनकी स्वास्थ्य जांच के लिए सरकार ने क्या-क्या व्यवस्था की हैl साथ ही जानलेवा कोरोना वायरस से लड़ रहे राज्य डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा के क्या इंतजाम किये गये हैंl ज्ञात हो कि राज्य के बड़े वकील इंद्रजीत सिन्हा ने पिछले दिनों झारखंड हाइकोर्ट के चीफ जस्टिस को एक पत्र लिखकर कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे डॉक्टरों की सुरक्षा से जुड़े कई सवाल उठाये थेl

ये भी पढ़े…

एक साथ 37 मरीज कोरोना को मात देकर लौटे घर को

एडवोकेट इंद्रजीत सिन्हा ने हाइकोर्ट को बताया था कि राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में कोरोना से लड़ने के लिए जरूरी आधारभूत संरचनाओं का घोर अभाव हैl यहां तक कि इस बीमारी के मरीजों की जांच करने वाले डॉक्टरों के लिए पीपीइ किट तक के इंतजाम सरकार ने नहीं किये हैंl सिन्हा के इस पत्र को ही मुख्य न्यायाधीश डॉ रवि रंजन ने जनहित याचिका में तब्दील करते हुए राज्य सरकार को नोटिस जारी किया थाl इसी मामले में शुक्रवार को सुनवाई हुईl

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here