• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

15 करोड़ बनाम 100 करोड़ वाले बयान पर पहले उगला जहर अब माफ़ी मांग रहे है वारिस पठान

1 min read

15 करोड़ बनाम 100 करोड़ वाले बयान पर पहले उगला जहर अब माफ़ी मांग रहे है वारिस पठान

NEWS TODAY – AIMIM नेता वारिस पठान ने अपने 15 करोड़ बनाम 100 करोड़ वाले विवादित बयान पर सफाई कहा है कि मीडिया में जो खबरें दिखाई जा रही हैं, उससे एक भ्रम फैल रहा है मानों मैं देश विरोधी हूं और खासकर हिन्दू धर्म के लोगों के खिलाफ हूंl

ये भी पढ़े-पाकिस्तान जिंदाबाद कहने वाली लड़की पर श्री राम सेना कार्यकर्ता ने रखे 10 लाख का इनाम

अपनी सफाई में वारिस पठान ने कहा, “25 तारीख को गुलबर्गा की एंटी CAA रैली में मैंने 15 करोड़ और 100 करोड़ की जो बात कही, वो हिन्दू धर्म के खिलाफ नहीं बोली थी. मेरे कहने का मतलब था कि CAA पर 15 करोड़ मुसलमान नाराज हैं और ना सिर्फ मुसलमान बल्कि दूसरे लोग भी इससे नाराज हैंl उन्होंने कहा कि हमारी शेरनी जैसी बहने आज डेढ़ महीने से सड़क पर बैठ कर अपना विरोध जता रही हैं. फिर भी इस देश के महज 100 लोग ही ऐसे हैं, जो 15 करोड़ मुसलमानों के खिलाफ साफ दिखाई दे रहे हैं. फिर चाहे वे RSS, बीजेपी या दूसरे दल के लोग ही क्यों न होl

पठान ने कहा कि मैंने अपने बयान में इन लोगों की तरफ इशारा करते हुए ही कहा था कि हम 15 करोड़ इन 100 पर भारी हैं. यही वो 100 लोग हैं, जो इस महान देश में लोगों को बांटना चाहते हैं और इसमें कुछ पत्रकार भी शामिल हैं. पठान ने आगे कहा कि यही लोग रोज शाम प्राइम टाइम करके अपने आप को सबसे बड़ा देशभक्त बताने का दावा करते हैं और रोज एक छोटी बात को तोड़-मरोड़ कर अपना एजेंडा सेट करते हैंl

अपनी बात को खत्म करते हुए वारिस पठान ने कहा, ‘हमारा आपस मे कुछ मुद्दों पर जरूर विवाद हो सकता है और लोकतंत्र में ये होना भी चाहिए. यह अधिकार बाबासाहेब अम्बेडकर ने संविधान में दिया है. मैं फिर साफ कर देना चाहता हूं. मैंने कोई गलत बात नहीं की लेकिन इसके जरिए मुझे और मेरी पार्टी को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. फिर भी अगर किसी को मेरे शब्द से ठेस पहुंची हो, तो मैं अपने शब्द वापस लेता हूं. सिर्फ इसलिए क्योंकि मैं इस देश का सच्चा नागरिक हूं. जय हिन्दl

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग खबरें