• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

​2014 की तरह  प्रचंड बहुमत में भाजपा फिर से ना आ जाए इसलिए विपक्षियों के द्वारा किया जा रहा है दलित के घर भोजन का विरोध विधायक फूलचंद मंडल

1 min read

न्यूज टुडे

झारखंड बिहार


धनबाद।

(गोविंदपुर): ​2014 की तरह  प्रचंड बहुमत में भाजपा फिर से ना आ जाए इसलिए विपक्षियों के द्वारा किया जा रहा है दलित के घर भोजन का विरोध —- BJP विधायक फूलचंद मंडल।


कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियों को इस बात का डर सताने लगा है कि दलित परिवार एक बार फिर से भाजपा को एकजूट होकर वोट ना दें दें.


और 2014 में जिस तरह प्रचंड बहुमत भाजपा को मिली थी वह फिर से ना मिल जाए यही वजह है कि हर बार दलितों के नाम पर भाजपा और भाजपा के


जनप्रतिनिधियों का विरोध का काम विपक्ष के लोग कर रहे हैं जिसमें कि न सिर्फ  कांग्रेस बल्कि जेएमएम माले समेत तमाम विपक्षी पार्टियां शामिल है ।


यह आरोप विधायक फूलचंद मंडल ने धनबाद के खिलकनालि गांव में लगाए गए रात्रि  चौपाल में  माले नेता सुबल दास के नेतृत्व में किये गए विरोध के बाद कहीं । चौपाल के  बाद उन्होंने दलित परिवार के यहां भोजन किया और रात्रि विश्राम भी वहीं पर की।


तीव्र विरोध को देखते हुए बुलानी पड़ी पुलिस।


विरोध इतना तीव्र था कि भाजपा कार्यकर्ताओं को स्थानीय गोविंदपुर थाना का सहयोग लेना पड़ा। भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई। आपको बता दें कि लोगों में आक्रोश इस बात का देखने को मिला कि विधायक के गांव में पहुंचने से पहले ही दिन में कई दलित संगठनों ने जय भीम का नारा लगाते हुए विधायक के विरोध में आक्रोश मार्च निकाला ,सभाएं की और विधायक के दलित के घर भोजन  कार्यक्रम का विरोध किया ।


गांव में पेयजल की समस्या और दलितों का शौचालय नहीं बन विरोध की मुख्य वजह बनी।

साढ़े तीन वर्षों में विधायक ने जीतने के बाद विकास का ऐसा कोई काम उस दलित गांव में नहीं किया था जिसकी वजह से लोगों की नाराजगी उनसे नहीं रहती। गांव की सबसे बड़ी समस्या पेयजल की थी जो पिछले कई वर्षों से मुंह बाए खड़ी थी.

ग्रामीण एक स्कूल के चारदीवारी के अंदर लगे चापाकल के पानी से अपनी प्यास बुझाते हैं ।ग्रामीणों ने कहा कि अगर चार या पांच चापाकल विधायक   अपने फंड से दें तब जाकर गांव में  पेयजल की समस्या का समाधान हो सकता है जिसे  विधायक ने अगले 20 दिनों के अंदर पूरा करने का भरोसा दिलाया.


और कहा कि अगर वह 20 दिन में पानी नहीं पिला पाते हैं तो उनके घर का घेराव कर दें। इतना ही नहीं लोगों ने गांव में शौचालय निर्माण नहीं होने ,प्रधानमंत्री  आवास योजना, राशन कार्ड और  पेंशन का लाभ अधिकांश  ग्रामीणों को नहीं मिलने का भी विरोध जताया और साथ ही गत  2 अप्रैल को भारत बंद में दलितों के समर्थन में सड़क पर नहीं उतरने को लेकर भी विरोध जताते हुए जय भीम के नारे लगाते हुए विधायक के चौपाल की का विरोध करते देखे गए।


उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस का भी हुआ वितरण।


चौपाल के ठीक बाद कुल 31 महिला लाभुकों के बीच उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन का वितरण किया गया उन्हें सिलेंडर और चूल्हा देकर उसके इस्तेमाल के उपाय भी बताए गए ।


रखे आप को आप के आस पास के खबरों से आप को आगे,newstodayjharkhand.com watsaap9386192053

Leave a Reply

Your email address will not be published.