• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

हजारों भारतीय H-1B वीजा और OCI कार्ड के कारण अमेरिका में फंसे हैं मुश्किल में

1 min read

हजारों भारतीय H-1B वीजा और OCI कार्ड के कारण अमेरिका में फंसे हैं मुश्किल में

NEWS TODAY – भारत में कई भारतीय ऐसे हैं जो कि एच-1बी वीजा पर हैं या ग्रीन कार्ड होल्डर बच्चे, जिनका जन्म अमेरिका में ही हुआ है, वे वीजा और ओसीआई कार्ड सस्पेंशन के बाद वापस भारत आने से वंचित हैं. कुछ दिन पहले वॉशिंगटन स्थित भारतीय दूतावास ने जानकारी दी थी कि विदेशी नागरिकों और और विदेशों में रह रहे एच-1बी वीजा और ओसीआई कार्ड होल्डर्स भारतीय मूल के लोगों की यात्रा को तब तक सस्पेंड किया जा रहा है, जब तक भारत में अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर बैन लगा रहेगा.वीजा,ओसीआई कार्ड निलंबित होने के ...

वहीं एच-1बी वीजा वाले कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनकी कोरोनावायरस के कारण अमेरिका में जारी लॉकडाउन के चलते नौकरी चली गई है और उन्हें कानून के मुताबिक 60 दिनों में वापस भारत लौटना होगा।

अमेरिकी नागरिक न होने के कारण एच-1बी वीजा के कानून के मुताबिक इस कपल को 60 दिनों के अदंर वापस भारत लौटना होगा। पिछले महीने कई एच-1बी वीजा होल्डर्स, जिनमें ज्यादातर भारतीय शामिल थे, उन्होंने व्हाइट हाउस में एक याचिका के जरिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आग्रह किया था कि एच-1बी वीजा की मियाद को 60 दिनों से बढ़ाकर 180 दिन कर दिया जाए. कई भारतीयों का कहना है कि अगर भारत सरकार हमारी वापसी का इंतजाम नहीं करती और अमेरिका में भी नौकरी नहीं है तो ऐसे में उन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

ये भी पढे…

WHO ने दी चेतावनी- लॉकडाउन की पाबंदी हटाने को बताया खतरनाक

 

एक भारतीय शख्स ने कहा कि वंदे भारत मिशन एक मानवता मिशन है, लेकिन इसमें केवल अमानवता नजर आ रही है. यह शख्स अपनी नौकरी खो चुका है और वापस भारत आना चाहता है. इस व्यक्ति और उसकी पत्नी को फ्लाइट में सीट मिल गई लेकिन उनकी ढाई साल की बेटी को टिकट नहीं मिली क्योंकि उसके पास ओसीआई कार्ड है. इस प्रकार की समस्याएं अमेरिका में कई भारतीय के सामने है, इसलिए वे भारत सरकार से आग्रह कर रहे हैं कि अपने फैसला पर फिर से विचार करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.