स्कूलों द्वारा फीस के लिए दवाब को लेकर अभिभावक परेशान-शिक्षा मंत्री चुप

स्कूलों द्वारा फीस के लिए दवाब को लेकर अभिभावक परेशान-शिक्षा मंत्री चुप

NEWS TODAYगिरिडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने 18 मई को मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री को ट्वीट कर लिखा कि निजी स्कूल अभिभावकों से फीस जमा करने का दवाब बना रहे हैं। इस पर अपनी नीति स्पष्ट कीजिए। अभिभावकों के साथ न्याय कीजिए और अगर उनके साथ अन्याय हुआ तो इसके लिए हम आंदोलन करने के लिए भी तैयार हैं। आपको बतादें की लॉकडाउन अवधि की फीस नहीं लेने के मामले में अब तब राज्य सरकार का आदेश जारी नहीं होने पर ट्विटर पर वार-पलटवार शुरू हो गया है।

वहीँ शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने भी तत्काल इसका जवाब देते हुए कहा कि आप निश्चिंत रहें। हमें अभिभावकों व निजी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों की चिंता आपसे कहीं ज्यादा है। हमारी सरकार को आनन-फानन में पूर्व में आपकी सरकार की भांति गोली-बंदूक से निर्णय नहीं करना है। सबके हित को ध्यान में रखते हुए जल्द ही आदेश निर्गत करेंगे। वहीँ इसके बाद शिक्षा मंत्री के इस ट्वीट का भी सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने जवाब देते हुए कहा कि अगर जनता के हितों का ध्यान है तो अविलंब फीस माफ करने का आदेश निर्गत करें, तभी हम, छात्र व अभिभावक निश्चिंत होंगे। दूसरे ट्वीट में सांसद ने कहा कि दो महीना से निजी विद्यालय बंद पड़े हैं और छात्र व और अभिभावक परेशान हैं। आप फीस माफी पर आदेश निर्गत नहीं कर पा रहे हैं। यह किसकी लाचारी है।

ये भी पढ़े…

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन होंगे WHO एग्जिक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन

धनबाद के कई अभिभावक भी ट्वीट कर यह कह रहे कि स्कूलों से मैसेज कर मांगा जा रहा फीस। शिक्षा मंत्री कृपया इसपर संज्ञान लें। महासंघ के महासचिव मनोज मिश्रा का कहना है कि केवल बयानबाजी से अभिभावकों का विश्वास सरकार पर से उठता जा रहा है। राज्य सरकार जल्द से जल्द इस मामले में निर्णय लें। हमलोगों को उम्मीद है कि शिक्षामंत्री इस मामले में जल्द आदेश जारी करेंगे।

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here