• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

शक्ति मंदिर के प्रांगण में बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाई गई लोहड़ी त्योहार

1 min read

न्यूज टुडे


लोहड़ी के मौके पर ढोलक की ताल पर थिरके के सांसद विधायक।

सिख समाज ने पूरे हर्षोल्लाश के साथ मनाई लोहड़ी। की त्यौहार ढोल की थाप पर भांगड़ा नृत्य भी किया वही लोहड़ी के पावन मौके पर धनबाद के सांसद पी एन सिंह धनबाद के विधायक राज सिन्हा पूर्व मंत्री मन्नान मल्लिक ढोलक के ताल पर थिरकते नजर आए इस पावन मौके पर धनबाद के शक्ति मंदिर के प्रांगण में सीख
समुदाय के लोगों ने अपने पूरे परिवार के साथ मिलकर अग्नि की परिक्रमा परिक्रमा की।

इस त्योहार में जिस तरह होलिका दहन की जाती है ठीक उसी प्रकार लोहड़ी के अवसर पर अलाव जलाकर नृत्य के साथ इस त्यौहार को मानते हैं।

इस दिन सूर्य ढलते ही खेतों में बड़े-बड़े अलाव जलाए जाते हैं। इस जलते हुए आलव के पास खड़े होकर लोग मस्ती के साथ नाचते और झूमते हैं। इसलिए इस त्योहार में अलाव का महत्त्व बढ़ जाता है।पंजाब का यह पारंपरिक त्यौहार लोहड़ी फसल की बुआई और कटाई से जुड़ा एक विशेष त्यौहार है। पंजाब में यह त्यौहार नए साल की शुरुआत में फसलों की कटाई के उपलक्ष्य के तौर पर मनाई जाती है। अपने पूरे परिवार के साथ अलाव का परिक्रमा करते सिख समुदाय के लोग।

लोहड़ी के त्यौहार के अवसर पर जगह-जगह अलाव जलाकर उसके आसपास नृत्य भी किए जाते हैं। नृत्य के दौरान लड़के जहां भांगड़ा करते हैं, वहीं लड़कियां गिद्धा नृत्य करती हैं।

मान्यताओं के अनुसार लोहड़ी का त्यौहार मुख्य रूप से सूर्य और अग्नि देव को समर्पित है। लोहड़ी के पवन अवसर पर लोग रवि फसलों को अग्नि देवता को अर्पित करते हैं, क्योंकि इस दिन से ही घरों में रवि फसल कटकर आने लगते हैं।

लोहड़ी की पवित्र अग्नि में नवीन फसलों को समर्पित समर्पित करने का भी विधान है। इसके अलावे इस दिन अग्नि में तिल, रेवड़ियाँ, मूंगफली, गुड़ और गजक आदि भी समर्पित किया जाता है।

न्यूज़ टुडे झारखंड आपके आसपास के खबरों से आपको रखे आगे आप हमें ईमेल भी कर सकते हैं&newstoday jharkhand@gmail.com watsaap 9386192053

Leave a Reply

Your email address will not be published.