विस्थापित किसान रोजगार से वंचित क्यों : ललिता महतो…

0
[URIS id=45547]

NEWSTODAYJ धनबाद : बलियापुर एफसीआई प्रबंधक एवं हर्ल प्रबंधक एक साजिश के तहत विस्थापित किसानों को रोजगार से वंचित कर रही हैं उक्त बातें आदर्श गणतंत्र पार्टी के जिला अध्यक्ष ललिता महतो ने सोमवार को पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता में कही। महतो ने कहा कि स्थानीय विधायक एवं पूर्व विधायक एवं वोट की राजनीति करने वाले जनप्रतिनिधि विस्थापित किसान मजदूरों को रोजगार को लेकर आंदोलन करने के बजाए मुख दर्शक बने हुए हैं ।लानत है ऐसे जनप्रतिनिधि एवं राजनीतिक नेतृत्व से।

यह भी पढ़े…

प्रेमी ने तस्वीर फेसबुक पर वायरल किया , प्रेमिका ने लगा ली फाँसी जांच में जुटी पुलिस…

यहां का विस्थापित किसान मजदूरों को सिर्फ हर खेत में पानी हर हाथ में काम कि नारा ही दिया गया।  दामोदर नदी बगल में बहने के बावजूद किसानों की सिंचाई संसाधन के लिए जनप्रतिनिधि ने ना चिंतन की ना ही पहल किया। आज सिंदरी एफसीआई को 6500 एकड़ जमीन नमक के भाव से देने वाले किसानों को रोजगार से वंचित किया जा रहा है। दुर्भाग्य है विस्थापित किसानों के लिए ,जहां से  झारखंड के पितामह  बिनोद बिहारी महतो ने  न्याय अधिकार एवं शोषण मुक्त के लिए  क्रांति एवं झारखंड आंदोलन का शंखनाद किया था।

यह भी पढ़े…

वर्चस्व की लड़ाई में मारा गया हार्डकोर उग्रवादी,लेवी वसूलने का काम करता था उग्रवादी…

वहां के  विस्थापित किसान मजदूर  असहाय एवं टुवर  बने हुए हैं।एफसीआई प्रबंधक ने  हलॆ कंपनी को 695 एकड़ जमीन लीज में दिए हैं । एफसीआई भी हलॆ कंपनी में  साझेदारी में है। लेकिन किसानों को रोजगार के लिए कोई पहल  नहीं कर रही है।आज भी 12 सौ एकड़  किसान से जमीन अधिग्रहण किए जमीन  प्रति पड़े हुए हैं । किसानों के प्रति पड़े  जमीन के प्रबंधक  किसानों को वापस करें । कंपनी में विस्थापित किसान मजदूरों को रोजगार से वंचित कर अन्य राज्य से मजदूर लाकर कार्य में लगाया जा रहा है।  जबकि नमक के भाव में जमीन  देने वाले एवं प्रदूषण खाने वाले विस्थापित किसान रोजगार के लिए दर-दर भटक रहे हैं ।क्या यही दिन देखने के लिए अलग झारखंड राज्य का गठन किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here