(धनबाद)

विवादों का मेला सुर्खियों में देखने को मिला ,मेला लगने से पहले विवाद पढ़े पूरी खबर……!

धनबाद / जोड़ापोखर थाना क्षेत्र के डिगवाडीह सर्कस मैदान में गणेश पूजा महोत्सव के दौरान लगने वाले मेला को लेकर एक बार फिर से विवाद उत्पन्न हो गया है । मेला संचालक ने एक कमिटी के लोगों के खिलाफ स्थानीय जोड़ापोखर थाने में शिकायत दर्ज किया है। शिकायत मिलने के बाद थाना प्रभारी सत्यम कुमार ने कमिटी के दिनेश यादव, एमके ठाकुर, उत्सव कुमार सहित अन्य को बुलाकर पूछताछ किया है । मेला संचालक पवन प्रजापति का आरोप है कि डिगवाडीह सर्कस मैदान के जमीन के मालिक बिनोद मरांडी से मेला लगाने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र लिया गया है । बुधवार को मेला लगाने के लिए दो ट्रक सामग्री लेकर डिगवाडीह सर्कस मैदान पहुचे तो उत्सव कुमार गाली गलौज करते हुए एक थपड़ मार दिया और हथियार दिखाकर रंगदारी मांगने लगा। दूसरी तरफ डिगवाडीह सर्कस मैदान में होने वाले 31 वाँ वार्षिक गणेश महोत्सव में मेला लगाने को लेकर दो समानान्तर कमीटी में मतभेद खुलकर देखा गया ।इस बढ़ते मतभेद को देखते हुए झरिया सीओ राजेश कुमार की अध्यक्षता में जोड़ापोखर थाना में बैठक का आयोजन किया गया।जिसमें सिंदरी डीएसपी पीके केशरी,थाना प्रभारी सत्यम कुमार,सीआइ श्याम लाल मांझी उपस्थित थे। बैठक में श्याल लाल मांझी ने स्पष्ट करते हुए कहा कि सर्कस मैदान का जमीन बिनोद मरांडी के नाम पर पुष्तैनी जमीन है। उक्त स्थल पर मेला लगाने के लिए उनसे प्रमाण पत्र लेना जरूरी होगा।

ये भी पढ़े

http://newstodayjharkhand.com/गैंगस-ऑफ-वासेपुर-के-नाम-से/गणेश पूजा सर्कस मैदान की मेला संचालक पवन प्रजापति ने कहा कि 21 अगस्त को सर्कस मैदान में मेला लगाने के लिए मेला सामग्री लेकर गया था जहाँ से दिनेश कमिटी के लोग भगा दिया है।कमिटी के सचिव सुरेन्द्र साव ने कहा कि जमीन मालिक बिनोद मरांडी से मेला लगाने के लिए एनओसी लिया गया है।दूसरी कमिटी के कमिटी के दिनेश यादव ने कहा कि पवन का आरोप गलत है । गुरुवार को थाना में बैठक में गए थे एक साथ मिलकर नयी कमिटी बनाकर पूजा करने के लिए थाना प्रभारी ने आदेश दिया है। वहीं इस बैठक में सिंदरी डीएसपी प्रमोद केशरी ने दोनों समानान्तर कमीटी को आदेश दिया कि मिलकर एक संयुक्त कमिटी बनाए ताकि पूजा और मेला सुचारू रूप से चलाया जा सके। एमके ठाकुर,दिनेश यादव,बिहारी राम,उत्सव राम आदि वही दूसरी कमिटी के सुरेन्द्र साव,राजू केशरी,शिव शंकर मिश्रा, शशिभूषन आदि थे ।NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *