वामपंथी पार्टी शुरू से ही छोटे राज्यो के निर्माण के खिलाफ रही है:मंटू महतो

(धनबाद)

वामपंथी पार्टी शुरू से ही छोटे राज्यो के निर्माण के खिलाफ रही है:मंटू महतो 

धनबाद;-सिन्दरी विधानसभा क्षेत्र में 1967 से वर्ष 2000 तक 35 वर्ष वामपंथी पार्टी का शासन रहा. 2000 से अबतक भाजपा विधायक फूलचंद मंडल ने राज किया. इन दोनों पार्टियों का एक लंबे समय तक शासनकाल रहने के बावजूद सिन्दरी क्षेत्र में डीवीसी, एसीसी, एफसीआई के विस्थापितों के मामले का समाधान नही कर सकी. सिन्दरी की जनता अब बदलाव चाहती है।उक्त बांते आजसू पार्टी के जिला अध्यक्ष सह सिन्दरी विधानसभा प्रभारी मंटू महतो ने शुक्रवार को गांधी सेवा सदन में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कही उन्होंने कहा किवामपंथी पार्टी शुरू से ही छोटे राज्यो के निर्माण के खिलाफ रही है. झारखण्ड अलग राज्य की मांग को लेकर 1977 में शिबू सोरेन और बिनोद बिहारी महतो की अगुवाई में जब आंदोलन शुरू हुआ उस वक्त वामपंथी पार्टी उस आंदोलन को कमजोर करने का प्रयास किया।मासस नेता सह तत्कालीन विधायक आनंद महतो ने विधानसभा में झारखण्ड अलग राज्य की मांग के खिलाफ वोट भी दिया. इसलिए बिनोद बाबू के जन्मस्थली सिन्दरी क्षेत्र से वामदल के नेता को जनप्रतिनिधि के रूप में वहाँ की जनता नही देख सकती है. यही वजह है कि 2000 से लेकर अबतक सिन्दरी की जनता मासस को नकार चुकी है,दूसरी तरफ सिन्दरी की जनता फूलचंद मंडल को तीन बार सिन्दरी विधानसभा का प्रतिनिधि चुनी. उनके 15 वर्षो के कार्यकाल में बेरोजगारी, पलायन, भ्र्ष्टाचार, पानी, बिजली, सड़क, शिक्षा जैसे बुनियादी सुविधाओं से लोग महरूम है. सिन्दरी की जनता 2019 में परिवर्तन चाहती है।NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here