रेलवे बोर्ड और रेल मंत्रालय द्वारा महत्वपूर्ण ट्रेनों का परिचालन निजी परिचालकों के हाथों में दिए जाने के विरोध में विशाल धरना प्रदर्शन!

0
84

धनबाद।

रेलवे बोर्ड और रेल मंत्रालय द्वारा महत्वपूर्ण ट्रेनों का परिचालन निजी परिचालकों के हाथों में दिए जाने के विरोध में विशाल धरना प्रदर्शन!

धनबाद। रेलवे स्टेशन रोड स्थित रेलवे ऑडिटोरियम के सामने आज ईसीआरकेयू धनबाद शाखा वन कार्यालय में रेलकर्मियों द्वारा रेलवे बोर्ड और रेल मंत्रालय द्वारा महत्वपूर्ण ट्रेनों का परिचालन निजी परिचालकों के हाथों में दिए जाने के विरोध में विशाल धरना प्रदर्शन किया गया। धरना का नेतृत्व अपर महामंत्री डी के पांडेय ने किया। बताते चलें कि विरोध प्रदर्शन में मुख्य मांगों पर चर्चा करते हुए श्री पांडेय ने बताया कि सरकार का तेजस एक्सप्रेस का परिचालन का जिम्मा निगम के हाथों आज से ही शुरू किया जा रहा है। नयी दिल्ली लखनऊ तथा मुंबई अहमदाबाद के बीच प्रथम चरण में इसका परिचालन शुरू किया जा रहा है और भविष्य में देश के प्रमुख रुट पर भी ट्रेन परिचालन का अधिकार निजी हाथों में सौंपने की तैयारी है। उन्होंने बताया कि सरकार का यह निर्णय बहुत ही गलत है। निजी परिचालक अपने ट्रेन को चलाने के लिए रेलवे के स्थानीय प्रशासन पर दबाव बनाएंगे जिससे कार्यरत कर्मचारियों पर मानसिक तनाव आएगा और अन्य सामान्य ट्रेनों के रोके जाने से देश की साधारण जनता की कठिनाइयों में बढ़ोतरी होगी। इससे रेलवे राजस्व की भी कमी होगी। अनावश्यक रूप से दबाव के कारण संरक्षा नियमों की अनदेखी के खतरे से भी इंकार नहीं किया जा सकता और इसका पूरा हर्जाना कार्यरत कर्मचारियों को उठाना पड़ सकता है । सरकार के इस कदम से नवयुवकों के लिए सरकारी सेवा के अवसर में भारी कमी उत्पन्न हो जाएगी ।उन्होंने बताया कि आल इंडिया रेलवमेंस फेडरेशन द्वारा रेलमंत्रालय सहित विभिन्न फोरम पर वार्ता में सकारात्मक परिणाम नहीं निकलने पर विरोध स्वरूप पूरे देश में आज इस धरने का आयोजन किया गया है । इस आयोजन का संयुक्त रूप से नेतृत्व करते हुए केंद्रीय कोषाध्यक्ष मो ज़्याउद्दीन ने कहा कि ये ट्रेन पूरी तरह से निजी क्षेत्र के कर्मचारियों द्वारा परिचालित किए जाएंगे, जिसमें टिकट परीक्षक, अटेन्डेन्ट, सफाई कर्मी ही नहीं बल्कि गार्ड और ड्राइवर भी निजी क्षेत्र के कर्मचारी होंगे, जिससे इन पदों की वर्तमान संख्या में भारी कमी होना तय है जिससे रेलकर्मियों पर छंटनी की तलवार चलाने का खतरा बढ़ गया है । इस धरना में डी के पांडेय , मो. जियाउद्दीन , भी. डी. सिंह, पी . के . मिश्रा , ए. के. दा , एन. के. खवास ,बसंत दुबे, एन. जे. सुभाष, शिवा प्रसाद , सोमेन दत्ता, एस एन सिंह,डी के बनर्जी,बी के साहू,इंद्रमोहन सिंह,बी के झा,के के सिंह,ए के दास,तपन बिस्वास,जे के साहू,आर के सिंह,संजय सिंह,आदि सहित सैकड़ों की संख्या में रेलकर्मी उपस्थित थे ।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here