रिलायंस इंडस्ट्रील लिमिटेड 11 लाख करोड़ रुपये का मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी बनी

1 min read

रिलायंस इंडस्ट्रील लिमिटेड 11 लाख करोड़ रुपये का मार्केट कैप वाली पहली भारतीय कंपनी बनी

NEWSTODAYJ जियो प्लेटफॉर्म्स को लेकर रिलायंस इंडस्ट्रीज ने लगातार कई बड़े ऐलान किए है. रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने पिछले दिनों ही ऐलान किया कि कंपनी अब पूरी तरह से कर्जमुक्त  हो गई. कंपनी ने मार्च 2021 तक कर्जमुक्त होने का ऐलान किया था, लेकिन लक्ष्य से काफी पहले कंपनी ने इसे पूरा कर लियाl रिलायंस इंडस्ट्रीज मार्केट कैप के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी तो पहले ही बन गई थी. लेकिन सोमवार को इंट्रा-डे ट्रेडिंग के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL Market Cap) का बाजार पूंजीकरण 11 लाख करोड़ रुपये के पार चला गया. ​RIL देश की पहली कंपनी है, जिसकी मार्केट कैप 11 लाख करोड़ रुपये के स्तर तक पहुंची है. सोमवार को ट्रेडिंग के दौरान बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज  पर RIL के शेयर्स का भाव 1,804.10 रुपये प्रति शेयर के नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया l  इस साल कंपनी के शेयर्स में करीब 20 फीसदी तक की तेजी दर्ज की गई है. सोमवार सुबह 10 बजे तक यह 1.69 फीसदी की बढ़त के साथ 1,789 रुपये प्रति शेयर के स्तर पर थाl

ये भी पढ़े..


शायरा बीवी के इलाज के लिए मुख्यमंत्री ने पहल करते हुए स्वास्थ्य मंत्री एवं बोकारो उपायुक्त को त्वरित संज्ञान लेने का किया आग्रह

एक्सपर्ट्स का कहना है रिलायंस इंडस्ट्रीज के कर्जमुक्त होने और जियो व रिटेल ईकाई की संभावित लिस्टिंग की खबरों के बीच निकट भविष्य में कंपनी के शेयर्स में तेजी जारी रहेगी.  महामारी के इस दौर में 150 अरब डॉलर की मार्केट कैप वाली पहली कंपनी बन गई है.’ कुल कर्ज में कमी आना एक प्रमुख फैक्टर है. इससे कंपनी के स्टॉक्स में रिरेटिंग देखने को मिलेगा. कुल मिलाकर कंपनी ने अप्रैल के बाद से दो महीनों में 1.68 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की पूंजी जुटाई हैl

ये भी पढ़े…

कोल ब्लॉक की नीलामी का निर्णय एक तरफा- पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता फुरकान अंसारी

एजेंल ब्रोकिंग लिमिटेड की इक्विटी स्ट्रैटेजिस्ट, ज्योति रॉय ने कहा कि कंपनी ने रिफाइनिंग, पेट्रोकेमिकल्स, ​टेलिकॉम और रिटेल बिजनेस में अपना दबदबा कायम किया है. जियो प्लेटफॉर्म में दुनियाभर की दिग्गज फर्म्स के निवेश की वजह से कंपनी को न सिर्फ कर्जमुक्त होने में मदद मिली है, बल्कि कंपनी के प्रबंधन पर भी विश्वास बढ़ा है. वैश्विक निवेशकों का साथ मिलने से अब जियो द्वारा टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में जबरदस्त बदलाव की क्षमता आ गई है, बल्कि इससे RIL को समय से पहले ही कर्जमुक्त होने में भी मदद की है. बाजार में जियो के दबदबे के बाद उसे लंबी अवधि में जबरदस्त ग्रोथ को दिशा भी मिली हैl

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Newstoday Jharkhand | Developed By by Spydiweb.