राज्य का खजाना खाली, गरीब गुरबा के खाते में 10-10 हजार रुपए डालने से बाजार संभलेगा, रौनक बढेगी – स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता

NEWSTODAYJ – झारखण्ड में कोरोनावायरस महामारी को लेकर लॉकडाउन के कारण आर्थिक स्थिति डगमगाने लगी हैl इसी को लेकर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने एक कार्यक्रम के माध्यम से कहा है कि प्रधानमंत्री की 20 करोड़ की राहत घोषणा तब तक घोषणा ही रहेगी जब तक की इसका कोई फलाफल नहीं होता है। झारखंड का खजाना खाली है। इस राज्य पर प्रधानमंत्री की विशेष कृपा होनी चाहिए। प्रधान मंत्री को चाहिए कि वह जो भी गरीब गुरबा है, उसके खाते में 10-10 हजार रुपए डाल दें। पैसा आएगा तो बाजार संभलेगा, रौनक बढेगी।

ये भी पढ़े…

बीते देर रात सिंह मैंशन व रघुकुल गुटों के बीच हुई भिडंत में दोनों ओर से जमकर चले लाठी, डंडे व तलवार-दर्जनों घायल

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को चाहिए कि वह मनरेगा का कार्यदिवस भी 100 दिनों से बढ़ाकर 200 दिन कर दे। इसकी मजदूरी भी 350 रुपए होनी चाहिए। जांच का दायरा बढ़ने से बढ़े मरीजस्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना से भयभीत होने की जरूरत नहीं है। सभी चीजें नियंत्रण में है। सरकार हर स्तर पर काम कर रही है। राज्य में जांच का दायरा काफी बढ़ा है, उसी क्रम में मरीज भी ज्यादा मिल रहे हैं। पहले केवल एमजीएम में जांच की व्यवस्था थी। अब चार जगहों पर हो रही है। तीनों नए मेडिकल कॉलेजों में भी जांच लैब बनाए जा रहे हैं। 30 ट्रूनेट मशीनें लगाई जा रही हैं। 50 और मशीनें खरीदने की योजना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *