• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

राजस्थान: महामारी को देखते हुए गहलोत सरकार का बड़ा फैसला,10वीं और 12वीं की परीक्षा रद्द

1 min read

राजस्थान: महामारी को देखते हुए गहलोत सरकार का बड़ा फैसला,10वीं और 12वीं की परीक्षा रद्द…..

>>>>लाखों छात्रों के हित को देखते हुए बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला

NEWSTODAYJ_राजस्थान:कोरोना वायरस के संक्रमण से फैली वैश्विक महामारी का असर बोर्ड की परीक्षाओं पर भी पड़ा है. सीबीएसई के बाद अब राजस्थान बोर्ड की परीक्षाएं भी रद्द कर दी गई हैं. बुधवार रात को गहलोत मंत्रिपरिषद् की बैठक में लाखों छात्रों के हित को देखते हुए बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया गया है. कैबिनेट बैठक के बाद शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि अब मार्किंग सिस्टम तय कर छात्रों को प्रमोट  किया जाएगा.

>>>>मार्किंग सिस्टम तय करेंगे

डोटसरा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा निदेशक, बोर्ड के अधिकारी और शिक्षा विभाग के अधिकारी मिलकर जल्द ही मार्किंग सिस्टम तय करेंगे. मार्किंग सिस्टम से सहमत नहीं होने वाले छात्रों के लिए कोरोना खत्म होने पर परीक्षा देने के विकल्प पर भी विचार किया जा सकता है. सीबीएसई में भी इसी तरह का विकल्प खुला रखा गया है. राजस्थान में भी उसे ही अपनाया जा सकता है.करीब 21 लाख छात्र होते हैं शामिल

यह भी पढ़ें…राजस्थान: ताउते तूफान का असर, राजस्थान और यूपी समय इन राज्यों में बारिश के आसार..

>>>>परीक्षाएं रद्द करने की मांग

राजस्थान बोर्ड की परीक्षा में करीब 21 लाख छात्र को शामिल होना था. छात्रों के साथ ही उनके अभिभावकों को भी बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर चिंता थी और परीक्षाएं रद्द करने की मांग उठ रही थीं. खुद कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने सभी राज्यों से छात्र हित में परीक्षाएं रद्द करने का अनुरोध किया था. विपक्ष द्वारा जहां परीक्षाएं रद्द करने की मांग की जा रही थी तो वहीं कांग्रेस नेता भी परीक्षा रद्द करने के पक्ष में थे. मंत्रिपरिषद् की बैठक में सभी मंत्रियों ने परीक्षा रद्द करने पर अपनी सहमति दी. हालांकि, शिक्षा राज्यमंत्री की ख्वाहिश परीक्षाएं आयोजित करवाने की थी और इसे लेकर तैयारियां भी की जा रही थीं, लेकिन सरकार पर परीक्षाएं रद्द करने का चौतरफा दबाव था.

 

>>>>शैक्षणिक सत्र में शिक्षकों को राहत

 

राजस्‍थान के शिक्षा मंत्री ने कहा कि 7 जून से शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र पर भी बैठक में चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि जितना लॉकडाउन खुला उतने ही अनुपात में शिक्षक स्कूलों में बुलाए जाएंगे. केवल जरूरी संख्या में ही शिक्षकों को स्कूल बुलाया जाएगा और शेष को दूसरे कार्यों में लगाया जाएगा. लॉकडाउन में बाहरी जिलों से नहीं आ सकने वाले शिक्षकों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी. गुरुवार को ही इसे लेकर विस्तृत शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.