राजद्रोह मामले में हार्दिक पटेल 24 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में

राजद्रोह मामले में हार्दिक पटेल 24 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में

NEWS TODAY :: कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को 2015 के राजद्रोह के एक मामले में निचली अदालत में पेश नहीं होने के कारण शनिवार को गुजरात के अहमदाबाद जिले के वीरमगाम तालुका से गिरफ्तार कर लिया गया। उनके खिलाफ वारंट जारी होने के कुछ घंटों बाद ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के बाद हार्दिक पटेल को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जहां से उन्हें 24 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

 ये भी पढ़े- वासेपुर में CAA,NPR और NCR के खिलाफ अनिश्चितकालिन धरना का आज सत्रहवां दिन

अहमदाबाद में 25 अगस्त 2015 को पटेल समुदाय की एक रैली के दौरान हिंसा भड़कने के बाद स्थानीय अपराध शाखा ने राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कर पटेल को पहले भी गिरफ्तार किया था। हिंसा फैलाने के आरोप में हार्दिक पटेल को लंबे समय तक जेल में रहना पड़ा था, बाद में जुलाई 2016 में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था. शनिवार को अतिरिक्त सत्र न्यायधीश बीजी गनात्रा ने सरकार की याचिका को स्वीकार करने के बाद हार्दिक पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया थाlसरकारी वकील ने कोर्ट को बताया था कि आरोपी जान-बूझकर लटकाए रखना चाहता है और इसी वजह से वे बार-बार पेशी से छूट मांग रहा हैl अदालत ने सुनवाई के दौरान ये भी देखा कि हार्दिक जमानत की शर्तों का उल्लंघन भी कर रहे हैं और सुनवाई के दौरान नियमित रूप से पेश नहीं हो रहे हैंl इसी के बाद कोर्ट ने हार्दिक के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दियाl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here