रांची व्यवहार न्यायालय बार एसोसिएशन में सुरक्षा की प्रतीक राखियां बांधी गईं। पढ़ें पूरी खबर……..

0
61

रांची।

रांची व्यवहार न्यायालय बार एसोसिएशन में सुरक्षा की प्रतीक राखियां बांधी गईं। पढ़ें पूरी खबर……..

रांची। बार एसोसिएशन सभागार में आज प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय चैधरी बगान हरमू रोड की केन्द्र संचालिका ब्रह्माकुमारी निर्मला बहन द्वारा वकीलों, एसोसिएशन पदाधिकारियों तथा शम्भु प्र अग्रवाल, अध्यक्ष, लालमुणी साहु, उपाध्यक्ष, पवण रंजन खत्री संयुक्त सचिव को राखी बाॅधकर पवित्रता का संदेश दिया गया। इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी निर्मला बहन ने कहा मनुष्य सर्व समर्थ नहीं है जब धरती पर बुराईयों का साम्राज्य हो जाता है तब करूणासिन्धु परमात्मा मनुष्य को मायावी बंधनों से मुक्त करके ईश्वरीय मर्यादा के रक्षासूत्र में बाॅधते हैं। इस रक्षासूत्र को बाॅधने से सब रोग नष्ट होकर अशुभ का नाश हो जाता है। राखी के रेशमी धागे रूपये दो रूपये की चीज न होकर मानव में पवित्रता की धारणा कराने वाले अमूल्य उपहार है। राखी की पुण्य प्रदायक भावना विश्व को स्वर्ग बना सकती है। विकारों से रक्षा करने हेतु राखी बंधन की परम्परा वर्तमान संगम समय ही शुरू की गई थी। आध्यात्मिक भावनाओं के अनुभवों से अभिभूत बार एसोसिएशन के शम्भु प्र अग्रवाल, अध्यक्ष जी ने कहा पे्रम और सद्भावना की भावना से विश्व की बड़ी से बड़ी समस्या को समूल नष्ट किया जा सकता है। नैतिक मूल्यों के संकट के समय ज्योति बिन्दु आध्यात्मिक शक्ति के स्रोत परमात्मा मनुष्यों में मनोबल जागृत करके बुराईयों से मुक्त करने के लिए रक्षासूत्र बाॅधते हैं। जो नर नारी इस बंधन को स्वीकार करते हैं वे अशुद्ध विचार व्यवहार से स्वयं की रक्षा करते हैं। सर्वप्रथम राखी, एसोसिएशन पदाधिकारियों को बाॅध कर फिर अन्य अधिवक्ताओं को राखी बाॅधी गई।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here