• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

ये मई का महीना हिन्दू मुस्लिम के लिए होगा खास मिलकर करेंगे ये काम

1 min read

न्यूज टुडे

झारखंड बिहार


ये मई का महीना हिन्दू मुस्लिम के लिए होगा खास मिलकर करेंगे ये काम……………….

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिंदू धर्म में कई तरह की मान्यताएं हैं। हिंदू नक्षत्र और महीनों को भी अलग महत्व के साथ पूजते हैं। इसी तरह हिंदूओं में पुरुषोत्तम मास या अधिकमास का भी महत्व है। हर तीन साल के बाद ये महीना आता है। इस साल पुरुषोत्तम मास 16 मई से 13 जून तक है।

लेकिन इस बार खास ये है कि इसी बीच मुस्लमानों का पवित्र महीना रमजान भी शुरू हो रहा है। चांद दिखने के बाद 17-18 मई से रमजान की भी शुरूआत हो जाएगी। यही कारण है कि ये मई का महीना हिंदू और मुस्लमान दोनों के लिए खास है।

ऐसे करें नकारात्मक शक्तियों का जड़ से सफाया, समस्त परेशानियों का होगा अंत………

इस बार संयोग से दोनों धर्म, पूजा और इबादत एक साथ करेंगे। बता दें कि हिंदू तिथि के हिसाब से 11 साल पहले वर्ष 2007 में ज्येष्ठ मास में अधिकमास आया था।

हिंदू धर्म की मान्यता
जिस महीने में सूर्य संक्रान्ति न हो, वह महीना अधिमास होता है। हिंदू धर्म के अनुसार कहा जाता है कि संसार को पालने वाले भगवान विष्णु को पुरुषोत्तम मास बेहद पसंद है।
क्या करें
इस एक महीने तक दान-पुण्य करने से अक्षय फल प्राप्त होता है। यदि ऐसा करने में सक्षम न हो तो ब्राह्मणों और साधुओं की सेवा करके भी फल प्राप्त कर सकते हैं।

जिस प्रकार अणुमात्र बीज का दान करने से वट वैसा दीर्घजीवी महान वृक्ष होता है, वैसे ही इस मास में दिया हुआ दान अधिक फल देता है। इस एक महीने में लोग अपना समय पूजा-पाठ, सत्संग एवं हरि कथा में बिताते हैं।

अगर आपको जीवन में हो इन बातों का अहसास तो समझ लीजिए कुंडली में शनि हो गया है अशुभ……

मुस्लिम धर्म की मान्यता
माना जाता है कि चांद दिखने के बाद से रमजान माह शुरु होता है। इसी अनुसार 16 मई को यदि चांद दिखता है तो अगले दिन से रोजे शुरू हो जाएंगे।
क्या करें
रमजान के पवित्र महीने में मुस्लिम नमाज-इबादत करेंगे और रोजे रखेंगे……………..

रीवा. बरकत का महीना माहे रमजान 17 मई से शुरू हो रहा है। इस बार का रमजान भीषण गर्मी में पड़ रहा है। परवरदिगार अपने रोजेदारों का इम्तहान लेंगे। रोजे 14 से 15 घंटे के बीच होंगे। माहे रमजान की तैयारियां जिले में शुरू हो गई हैं। रमजान का विशेष महत्व है। सभी मुस्लिम रोजा नमाज, सदका जकात करते हैं। अल्लाह की इबादत में मशगूल रहते हैं।

बरकत का महीना…………..

रमजान का महीना इसलिए खास माना जाता है क्योंकि इसके एक फर्ज नमाज का सवाब 70 गुना मिलता है। ये बरकत का महीना है। इसमें अल्लाह पाक सभी मोमिन बंदों के रिज्क कुशादा कर देते हैं। इस महीने में स्वच्छता का विशेष महत्व है।

घरों में रोशनी की कृत्रिम सजावट होती है। रोजेदार रातभर जागकर इबादत करते हैं। आने वाली मीठी ईद की तैयारी करते हैं। जिला शरीयत हिलाल कमेटी के पदाधिकारी महमूद खान ने बताया कि माहे रमजान के मुबारक महीने को लेकर उत्साह है।

लेकिन भीषण गर्मी में पडऩे के कारण रोजेदारों को परेशानी उठानी पड़ेगी। इस बार पहला रोजा 14 घंटे 55 मिनटका होगा। 17 मई की भोर सुबह 3.51 बजे सेहरी से शुरू होगा जो 6 .46 बजे इफ्तार के बाद समाप्त होगा। शहर की मस्जिदों में माहे रमजान की तैयारी शुरू हो गई है।

newstodayjharkhand.com 

Leave a Reply

Your email address will not be published.