• झारखंड का उभरता न्यूज़ पोट्रल न्यूज़ टुडे झारखंड में आप के गली मोहलले के हर खबर अब आप के मोबाइल तक आप के गली मोहल्ले की हर खबर को हम दिखाएंगे प्रमुखता से हमारे न्यूज़ टुडे झारखंड के संवादाता से संपर्क करे,ph..No धनबाद, 9386192053,9431143077,93 34 224969,बोकारो,+91 87899 12448,लातेहार,+919546246848,पटना,+919430205923,गया,9939498773,रांची,+919334224969,हेड ऑफिस दिल्ली,+919212191644,आप हमें ईमेल पर भी संपर्क कर सकते है हमारा ईमेल है,NEWSTODAYJHARKHAND@GMAIL........झारखंड के हर कोने कोने की खबर अब आप के मोबाइल तक सबसे पहले आप प्ले सटोर पर भी न्यूज़ टुडे झारखंड के ऐप को इंस्टॉल कर सकते है हर तरह के वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करे यूट्यूब पर NEWSTODAYJHARKHAND......विज्ञापन के लिए संपर्क करे...9386192053.9431134077

ये भिखारी महिला कुछ ऐसा काम कर गई जिसे जान कर आप करेंगे सैलूट पढ़े पूरी खबर

1 min read

(जयपुर)

ये भिखारी महिला कुछ ऐसा काम कर गई जिसे जान कर आप करेंगे सैलूट पढ़े पूरी खबर,,,,,!

आज के भाग दौड़ की जिंदगी में हर कोई अपने आप मे इतना व्यस्त है कि किसी के लिए किसी के पास टाइम नही है पर एक भिखारी महिला ने भीख मांग कर अपना पेट चलाने के बावजूद भी कुछ ऐसा कर गई जिसे आप जान कर एक बार इस महिला को जरूर सैलूट करेंगे जी हा तो अब आप जरूर जानना चाहेंगे उस महिला के बारे में तो हम बताते है उस महिला के बारे में।
ये कहानी नहीं है, बल्कि सच्चाई है। एक ऐसी सच्चाई जिस पर भरोसा करना मुमकिन न हो। लेकिन ऐसी कोई वजह नहीं कि आप भरोसा न कर सकेंजयपुर: सम्मान की जिंदगी, चेहरे पर आत्मसम्मान की झलक भला किसे खराब लगती है। आखिर कौन चाहता है कि वो दूसरों के आसरे पर अपनी जिंदगी का सफर आगे बढ़ाए। लेकिन हालात किसी इंसान को इस हद तक लाचार कर देते हैं कि वो हर किसी से अपनी भूख मिटाने की गुहार लगाता है,दुत्कार सहता है जिसे सामान्य तौर पर हम भिखारी मानते हैं।

यहां जिस महिला का हम जिक्र करने जा रहे हैं वो लाचार थी, वो दूसरों से मदद की गुहार लगाती थी, दुत्कार सहती थी। सांसों को बनाए रखने के लिए वो गली गली घूमती थी। अब वो इस दुनिया में नहीं है। लेकिन कुछ ऐसा कर गई जिस पर हर किसी को नाज है, पेशेवर रूप में वो भिखारी होते हुए भी लोगों के दिल में न केवल जगह बना चुकी है, बल्कि दिमाग पर अमिट छाप छोड़ गई है।

अजमेर की गलियों में वो रहती थी। भीख मांग कर गुजर बसर करती थी। लेकिन उसे ये समझ थी कि बचत क्या होती है। भीख में मिले धन को वो बचाती रही और इस तरह से उसने कुल 6 लाख 60 हजार रुपये जोड़ लिए। सबसे बड़ी बात ये है कि वो अपने घर वालों से कहा करती थी कि जब वो इस दुनिया को अलविदा कह देगी तो उसके बचाए पैसों को किसी नेक काम के लिए डोनेट कर दिया जाए। उस भिखारी महिला की इच्छा का सम्मान करते हुए उसके परिजनों ने 6 लाख 60 हजार रुपये का ड्राफ्ट बनवाया और पुलवामा हमले में शहीद परिजनों के परिवारों को दान कर दिया।

NEWSTODAYJHARKHAND.COM

Leave a Reply

Your email address will not be published.